padmawatip(4)

फिल्‍ममेकर संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म ‘पद्मावती’ उर्फ़ ‘पद्मावत’ पर विवाद खत्म होने का नाम ले रहा है. सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद फिल्म 25 जनवरी को रिलीज होनी है. लेकिन अब राजपूत महिलाओं ने भी फिल्म के खिलाफ मौर्चा खोल दिया.

राजपूत महिलाओं ने चेतावनी जारी कर कहा कि यदि फिल्म रिलीज होती है तो वे चित्तौड़गढ़ किले के उसी स्थान पर जौहर करेंगी. जहां रानी पद्मनी ने 16 हजार रानियों और दासियों के साथ जौहर किया था. शनिवार को चित्तौड़गढ़ में सर्व समाज की बैठक में महिलाओं ने साफ कहा कि यदि देश में कहीं भी ‘पद्मावत’ रिलीज हुई, तो महिलाएं जौहर करेंगी.

श्री राजपूत करणी सेना के संरक्षक लोकेन्द्र सिंह कालवी ने बताया कि शनिवार को चित्तौड़गढ़ की बैठक में हुआ फैसला राजपूत समाज ने ही नहीं, बिल्क सभी समाजों ने मिलकर किया है. उन्होंने कहा कि करणी सेना ने पहले 25 और 26 जनवरी को भारत बंद की योजना बनाई थी, लेकिन इस दिन गणतंत्र दिवस होने के कारण अब स्‍थगित कर दी गई है.

वहीँ जौहर स्मृति समाज के जनरल सेक्रेटरी कण सिंह ने तो यहां तक कह दिया कि मूवी की रिलीज पर रोक नहीं लगी तो इससे जुड़े सभी लोगों को फांसी पर चढ़ा दिया जाएगा. इसके साथ ही करणी सेना के प्रवक्ता वीरेंद्र सिंह ने कहा कि बोर्ड का अध्यक्ष 16 जनवरी को पीएम मोदी से मिलेगा. हम पीएम मोदी से फिल्म पर रोक लगाने की मांग करेंगे.

इसके अलावा इस घटनाक्रम में सेना के कुछ सदस्य आज उदयपुर जाने वाले केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह से भी भेंट कर, पूरे देश में इस फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने की मांग रखेंगे.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें