pvv

भारत की बेटी पीवी सिंधु ने रविवार को इतिहास रच दिया। सिंधु ने वर्ल्ड टूर फाइनल्स के खिताबी मुकाबले में रविवार को जापान की नोजोमी ओकुहारा को सीधे गेमों में हराया। वह यह खिताब जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई।उन्होंने यह मुकाबला 62 मिनट में 21-19, 21-17 से अपने नाम किया। इस साल सिंधु का यह पहला खिताब है।

Loading...

लगातार तीसरी बार सत्रांत फाइनल्स में खेल रही सिंधू को पिछले साल जापान की ही अकाने यामागुची के खिलाफ शिकस्त के साथ रजत पदक से संतोष करना पड़ा था लेकिन इस बार वह एक घंटे और दो मिनट चले मुकाबले में ओकुहारा को 21-19, 21-17 से हराकर खिताब जीतने में सफल रहीं।

सिंधु रियो ओलिंपिक 2016 में फाइनल हार गईं थी। उन्हें इस साल कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स के खिताबी मुकाबले में भी हार मिली थी। वे दो बार वर्ल्ड चैम्पियशिप के फाइनल में उप-विजेता रही थीं। इस साल सिंधु को कुल पांच फाइनल में हार का सामना करना पड़ा है।

बता दें कि साइना नेहवाल 2011 में विश्व सुपर सीरीज फाइनल्स के फाइनल में पहुंची थी जबकि 2009 में ज्वाला गुट्टा और वी दीजू की जोड़ी मिश्रित युगल में उप विजेता रही थी।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें