एक युवा फिलिस्तीनी कलाकार, अमीर दाएना ने अपने गीत “उम्मेतुन ला तुज़ेम” का एक वीडियो शूट किया है। जो अरब और मुस्लिम दुनिया में बड़ा लोकप्रिय हो रहा है। यह गीत लोकप्रिय तुर्की टीवी सीरीज ‘अर्तुरुल’ के थीम से प्रेरित है।

यह वीडियो मस्जिद अल-अक्सा और पूर्वी यरुशलम के कब्जे वाले सिल्वान इलाके में फिल्माया गया। जिसमे इस बात पर जोर दिया गया कि यरूशलेम और फिलिस्तीन दोनों अपनी स्वतंत्रता हासिल करेंगे और मुस्लिम पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) की प्रशंसा की गई।

‘अर्तुरुल’ सीरीज में ओटोमन साम्राज्य के पहले नेता उस्मान के पिता ‘अर्तुरुल’ गाज़ी के संघर्ष को दिखाया गया है, इसमे साम्राज्य की स्थापना से पहले की कहानी बताई गई है।

Daa’na के वीडियो ने 24 घंटे से कम समय में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 100,000 से बार देखा गया। उन्होंने अनादोलु एजेंसी के संवाददाता से कहा कि वह सीरीज के एक बड़े प्रशंसक है, यह फिलिस्तीन में भी लोकप्रिय है। उन्होंने कहा कि उनका संस्करण फिलिस्तीनियों और येरुशलम के संघर्ष पर केंद्रित है।

फिलिस्तीनी गायक ने कहा कि उनका मानना ​​है कि मुस्लिम राष्ट्र कभी भी पराजित नहीं होंगे। उन्होने कहा, “मेरा संदेश जो मैं इस क्लिप के साथ देना चाहता हूं, वह बहुत स्पष्ट है। मेलोडी और क्लिप का शीर्षक उम्मेतुन ला तुहिज़म [एक अजेय उम्माह] है। पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) का उम्माह कभी भी पराजित नहीं होगा […] इसके बारे में बताता है। इस्लाम का सम्मान और पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) का उम्माह। अल्लाह पूरी दुनिया में इस उम्म की मदद करे। अल्लाह फिलिस्तीन और मस्जिद अल-अक्सा को आजादी प्राप्त करने में मदद करे। “

उन्होंने ओटोमन साम्राज्य पर भी टिप्पणी की, जिसने 401 वर्षों तक यरूशलेम पर शासन किया। उन्होने कहा, “मुझे लगता है कि कोई भी इस बात से इनकार नहीं कर सकता कि ओटोमन राज्य ने न केवल फिलिस्तीन को, बल्कि दुनिया को भी पेशकश की। तुर्क राज्य ने लगभग 600 वर्षों तक दुनिया पर शासन किया। मुझे लगता है कि इसने बहुत अच्छा शासन किया, और मैं तुर्क राज्य का बहुत सम्मान करता हूं। अब हम इसकी बहुत तलाश कर रहे हैं, खुद भी। मैं एक तुर्क की तरह महसूस करता हूं। “