padmaa

padmaa

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ के रिलीज होने की तारीख नजदीक आ रही है लेकिन इससे जुड़ा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है.

इस मामले में अब करणी सेना और राजपूत संगठनों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. दायर याचिका में रानी पद्मावती को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगा ते हुए कहा कि ट्रेलर में  रानी पद्मावती घूमर डांस कर रही हैं, लेकिन राजघराने की रानियां घमूर और ठुमके नहीं लगाती थीं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी के साथ कहा गया कि ट्रेलर में दीपिका को जिस तरह दिखाया गया है. उससे राजपूत समाज की भावनाएं आहत हो रही है. ऐसे में इतिहास में रानी के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लेने के बाद ही फिल्म को रिलीज किया जाए.

इसी बीच महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने फिल्म पर कहा है कि अगर कोई भी इतिहास से छेड़छाड़ करेगा उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. अगर लोग विरोध कर रहे हैं तो ऐसी फिल्म बनाने वालों को भी सोचना चाहिए कि वो अपने निजी स्वार्थ के लिए काल्पनिक कार्य न करे.

इसके पहले महाराष्ट्र राज्य के पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल ने भी फिल्म का विरोध करते हुए फिल्म को बैन करने कि मांग कि थी. रावल ने कहा था, “इस फिल्म के आपत्तिजनक दृश्यों की वजह से कानून-व्यवस्था के लिए समस्या पैदा हो सकती है. इसके लिए सरकार फिल्म सेंसर बोर्ड को पत्र लिखेगी.

Loading...