भारतीय क्रिकेट टीम के तेल गेंदबाज मोहम्‍मद शमी की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की प्रशासकों की समिति (COA) ने बोर्ड की भ्रष्‍टाचार निरोधक विंग को शमी पर उनकी पत्नी द्वारा लगाए गए फिक्सिंग के आरोपों की जांच करने को कहा है.

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित क्रिकेट प्रशासकीय कमेटी (सीओए) के चीफ विनोद राय ने एसीयू के प्रमुख नीरज कुमार को ईमेल के जरिए शमी के खिलाफ लगे आरोपों की जांच कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा है. बता दे कि हसीन जहां ने पुलिस को दी गई शिकायत में आरोप लगाया था कि शमी दुबई गए थे और उन्‍होंने वहां संदिग्‍ध लेनदेन किए.

COA ने शमी और उनकी पत्‍नी के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत की ऑडियो रिकॉर्डिंग को भी सुना है, जिसमें किसी मोहम्‍मद भाई के नाम का जिक्र है. मोहम्‍मद भाई ने एक पाकिस्‍तानी महिला के जरिये तेज गेंदबाज को कथित तौर पर कुछ राशि भेजी थी.

Image result for bcciहालांकि इस ई-मेल में कही भी ‘मैच फिक्सिंग’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया गया है, बल्कि शमी के खिलाफ आरोपों से संबंधित विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के संदर्भ में हैं. इसी बीच कोलकाता पुलिस ने बीसीसीआई को चिट्ठी को लिखकर भारतीय क्रिकेट टीम के साउथ अफ्रीका दौरे का ब्योरा मांगा है.

शमी के खिलाफ मैच फिक्सिंग की जांच का ये फैसला उनके लिए बड़ा झटका हो सकता है, क्योंकि मोहम्मद शमी इस साल आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेल सकेगें या नहीं इस बात का फैसला अब 16 मार्च को होगा. 16 तारीख को आईपीएल गवर्निग काउंसिल की बैठक है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?