लाउड स्पीकर पर होंने वाली अज़ान पर पाबंदी की बात कही थी. जिविवाद से काफी विवाद हुआ था. लेकिन उन्होंने एक बार फिर से विवाद पैदा कर दिया. उन्होंने अब फतवा देनें वालो के खिलाफ करवाई की मांग की.

एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में सोनू निगम ने कहा, ‘मुझे सर्वव्यापी भगवान में पूर्ण विश्वास है. लेकिन, यह मानसिकता पसंद नहीं है, जब कोई किसी के खिलाफ फतवा जारी करता है, कहता है कि उसके बाल काट दो, मार दो. मेरे खिलाफ भी फतवा था… मेरा सिर काटने के लिए. मेरे विचार से सरकार को इस मामले में जरूर कुछ करना चाहिए.

उन्होंने कहा, हम सभ्य और लोकतांत्रिक देश में रहते हैं. हम गणराज्य हैं. हम फतवे जैसी चीजों की अनुमति कैसे दे सकते हैं. मैं गो-रक्षकों द्वारा भी लोगों को मारने के खिलाफ हूं. मैं पूरी तरह इसके खिलाफ हूं. मुझे गुंडागर्दी किसी भी रूप में पसंद नहीं है. आप दर्जनभर लोगों के समूह में जाकर किसी परिवार को धर्म के नाम पर नहीं धमका सकते.

सोनू ने कहा, हमारे देश में ऐसी चीजें नहीं होनी चाहिए. हम सभी चीजें अच्छी कर रहे हैं. इन दिनों हम बहुत अच्छा कर रहे हैं. यह कोई राजनीतिक बयान नहीं है, लेकिन मुझे लगता है कि अच्छे दिन आ रहे हैं.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें