khabib

मिक्स मार्शल आर्ट की दुनिया के सबसे बड़े नाम कॉनर मैकग्रेगर को इस्लाम पर विवादित टिप्पणी को लेकर रिंग के बाहर पीटने वाले रूस के मार्शल आर्ट चैंपियन ख़बीब नूर मुहम्मदोफ़ ने साफ कर दिया कि उन्हे अपने किये पर कोई पछतावा नही है। चाहे उन पर प्रतिबंध ही क्यों नही लगा दिया जाये।

तुर्की के पीएन स्पोर्ट्स को साक्षात्कार देते हुए उन्होने कहा कि मैं गुनहगार नहीं हूं। मैंने अपने धर्म और अपने परिवार का बचाव किया। मैं इस मामले की सुनवाई के लिए होने वाली कार्यवाही में शामिल नहीं होऊंगा । उन्हे जो कुछ करना है कर लें यदि वह मेरी फ़ीस काटना चाहते हैं तो काट लें। यदि वह चाहें तो दस साल तक मुझे मुक़ाबलों से दूर कर दें। मगर मैं पूरी तरह संतुष्ट हूं मैंने अपने धर्म और परिवार की रक्षा की।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले उन्होने इस विवाद पर कहा था,  “मैंने एक चीज़ के लिए अल्लाह से दुआ की थी कि यह शख्स पिंजरे में मुझे अकेला मिल जाए। खबीब ने कहा, “मैंने प्रार्थना की कि हमें कोई चोट नहीं होगी, हम वजन कम करेंगे, और हमारी ताकत हासिल करेंगे, और आखिरकार उस पिंजरे में बंद हो जाएंगे। क्योंकि उस पिंजरे के बाहर बहुत कुछ कहा गया था, और मैंने कहा कि एक बार जब अष्टकोणीय दरवाजा बंद हो जाता है, तो मैं अपने कार्यों के लिए ज़िम्मेदार नहीं हूं।

नूरमागोमेडोव ने कहा, “पहली बात जो मैं उसे दिखाना चाहता था, हमारे लोगों और उसके लोगों के बीच अंतर है। हम अपने इतिहास, हमारे पूर्वजों, और हमारे लोगों के माध्यम से क्या जानते हैं। कुछ भी हमें तोड़ नहीं सकता है, निलंबन के खतरे के बावजूद यूएफसी चैंपियनशिप बेल्ट खाबीब ने थोड़ा पछतावा व्यक्त किया।

बता दें कि रूस के मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट खबीब नर्मागोमेडोव ने रविवार को आयरलैंड के कोनोर मैकग्रेगर को हराकर करियर का लगातार 27वां फाइट अपने नाम किया। यूएफसी बाउट में यह उनकी ग्यारहवीं जीत है। इसमें वे अब तक नहीं हारे।

Loading...