मुंबई | बॉलीवुड अभिनेता नवाजुदीन सिद्दीकी ने आज फिल्म जगत में वो मुकाम हासिल किया है जो हर उस शख्स का सपना होता है जो मुंबई की फिल्म नगरी में हीरो बनने के लिए आता है. नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने फिल्म जगत के सबसे दिग्गज अभिनेताओ के साथ काम किया है. यही नही अब नवाजुद्दीन को केंद्र में रखकर फिल्मे बनायी जाने लगी है. अब नवाजुद्दीन अकेले दम पर फिल्मे चलाने का दम रखने लगे है.

लेकिन यह सब कोई अचानक नही हुआ. इसके पीछे 12 सालो की तपस्या है. इसी तपस्या से तप कर नवाजुद्दीन ने अपनी मंजिलो को छुआ है. पश्चिम उत्तर प्रदेश के छोटे से कस्बे बुढाना में पले बढे नवाजुद्दीन बड़े सपने देखने की जुर्रत की. ऐसा दुनिया में बहुत लोग करते है लेकिन इनको पाने के लिए जो लगन और मेहनत चाहिए वो बिरले ही कर पाते है. उन्ही बिरलो में नवाजुद्दीन ने अपना नाम शुमार किया है.

लेकिन नवाजुद्दीन की सफलता के पीछे एक औरत का त्याग भी छिपा है. वो है उनकी माँ, मेहरुन्निसा सिद्दीकी. छोटे से कस्बे में बड़े सपने देखने वाले बेटे पर उनको यकीन था. एक परम्परावादी परिवार में पैदा होने के बावजूद अपने बेटे को सपनो को पंख देने का काम एक माँ ही कर सकती है. यही वजह है की आज नवजुद्दीन की माँ ने उन्हें भी गर्व करने का मौका दिया है. बीबीसी की दुनिया की टॉप 100 में नवाजुद्दीन की माँ को शामिल किया गया है.

खुद नवाजुद्दीन ने इस खबर की पुष्टि करते हुए एक ट्वीट भी किया. इसके अलावा उन्होंने अपनी माँ के साथ एक ब्लैक एंड वाइट फोटो को भी ट्वीट किया. इसमें नवाजुद्दीन ने लिखा,’ ‘एक छोटे से गांव के परंपरावादी परिवार में आने वाली हर मुसीबत से जूझते हुए जिसने हिम्‍मत दिखायी, मेरी मां.’ उनके अलावा इस लिस्ट में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज का नाम भी शामिल है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?