ICC वर्ल्ड कप-2019 के पहले सेमीफाइनल में मोहम्मद शमी को टीम इंडिया में शामिल न किए जाने को लेकर सवाल उठ रहे है। अब उनके कोच बदरुद्दीन सिद्दिकी ने भी हैरानी जताई है।

बदरुद्दीन ने आईएएनएस से कहा कि ”मैं हैरान हूं। जिसने चार मैचों में 14 विकेट लिए हैं उसे आप कैसे बाहर रख सकते हैं? आप एक तेज गेंदबाज से और क्या उम्मीद रखते हैं। मुझे लगा था कि श्रीलंका के खिलाफ आराम दिया है इसका मतलब है कि नॉकआउट मैचों में उन्हें तरोताजा रखने की कोशिश की जा रही है, लेकिन मेरा आंकलन साफ तौर पर गलत साबित हुआ।

उनसे जब पूछा गया कि शमी की बल्लेबाजी एक कारण हो सकती है क्योंकि अंत में भुवनेश्वर कुमार रन कर सकते हैं? इस पर कोच ने कहा, “सच में? अगर आप शमी और भुवनेश्वर की बल्लेबाजी के भरोसे हो तो फिर हम हर सूरत में मैच हारेंगे। ईमानदारी से कहूं तो, अगर टॉप-6 आपके लिए रन नहीं कर सकते तो बाकी के बल्लेबाज भी नहीं कर सकते। टूर्नामेंट की शुरुआत में उन्हें मौका नहीं दिया गया था लेकिन बाद में जब उन्हें मौका मिला तो उन्होंने अपने आप को साबित किया है।” कोच ने साथ ही शमी को चोट की आशंका को भी खारिज कर दिया है।

उन्होंने कहा, “मैंने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए मैच के बाद उनसे आखिरी बार बात की थी। मुझे लगता है कि जिस लय में वो गेंदबाजी कर रहा था वो यह बताने के लिए काफी थी कि वह पूरी तरह से फिट हैं। अगर उन्हें कल या एक दिन पहले कोई नई चोट लगी हो तो इसके बारे में मुझे नहीं पता।”

इसके अलावा सोशल मीडिया पर फैंस ने इस बात को लेकर सवाल उठाए कि पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने वाले मोहम्मद शमी को सेमीफाइनल मुकाबले में मौका क्यों नहीं दिया गया। कई फैंस टीम में शमी की गैरमौजूदगी से बेहद नाराज नजर आए। फैंस ने ट्विटर पर टीम सेलेक्शन पर उठाए कि किस आधार पर शमी को टीम से बाहर रखा जा रहा है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन