Saturday, June 19, 2021

 

 

 

मोहम्मद शमी आखिरी वक्त में भी पिता को नहीं दे पाए समय, देशहित को रखा सबसे ऊपर

- Advertisement -
- Advertisement -

शुक्रवार (27 जनवरी) को क्रिकेटर मोहम्‍मद शमी के पिता तौसिफ अली का निधन हो गया हैं. वे काफी लबे समय से बीमार चल रहे थे. अभी हाल ही में उनका गुरुग्राम में ऑपरेशन भी हुआ था. गुरुवार रात करीब साढ़े 10 बजे तौसिफ को दिल का दौरा पड़ा, इससे पहले कि परिजन उन्हें अस्पताल ले जाते उससे पहले ही उनकी मौत हो गई.

पिता के आखिरी वक्त में भी शमी उन्हें वक्त नहीं दे पाए. क्‍योंकि वे अपनी फिटनेस में सुधार के लिए बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट एकेडमी में थे. ऐसे में उनके पिता ने भी उनकी इस फैसले का सम्मान किया. शमी के भाई के अनुसार, वे पिता के ऑपरेशन के दौरान आये थे. जिसके बाद फिर से वे बेंगलुरु चले गए थे.

आसिफ के अनुसार, ”वह काफी भावुक थे लेकिन उन्‍होंने यह सोचते हुए ट्रेनिंग पर जाने का फैसला किया कि ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज से पहले उनका ठीक होना टीम के लिए जरूरी है. अब मैं जानता हूं कि वह अगली सीरीज में अभी तक का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन करेंगे.”

उन्होंने आगे कहा, ”अब्‍बू उनके पेशे का सम्‍मान करते थे और अगर वे होते तो वे भी ऐसा ही करने को कहते. क्रिकेट उनके खून में था, वह वसीम अकरम के बहुत बड़े फैन थे. हमें उनकी बहुत याद आएगी विशेष रूप से भाई को. क्‍योंकि भाई जब भी परेशान होता तो वह उन्‍हें शांत करते थे.”

हालांकि पिता के आखिरी वक्त में परिवार के कुछ लोगों ने शमी से रुकने को कहा था लेकिन उन्‍होंने कहा कि भारत भी उनके लिए पिता ही है और वह अपने कर्त्‍तव्‍य से पीछे नहीं हट सकते.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles