करण जौहर निर्देशित माई नेम इज खान को लेकर मशहूर लेखक पावलो कोएलो ने कहा कि उन्हें इस फिल्म के लिए ऑस्कर मिलना चाहिए था. मशहूर लेखक पावलो कोएलो ने अपने सात साल पुराने ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा कि माई नेम इज खान एंड आई एम नॉट ए टेररिस्ट. साथ ही उन्होंने फिल्म को बेहतरीन बताते हुए फिल्म के सात वर्ष पुरे होने पर बधाई भी दी हैं.

उन्होंने लिखा, सात साल पहले जब उन्होंने फिल्म देखी थी तो ट्विटर पर लिखा था- उनका घूंसा (और केवल) फिल्म जो मैंने देखी (इस साल जबकि यह 2008 में रिलीज हुई थी) वो थी माई नेम इज खान. ना केवल फिल्म बेहतरीन है बल्कि शाहरुख खान एक ऑस्कर डिजर्व करते अगर हॉलीवुड इस मैनिपुलेटिड नहीं करता. वो कोई और टाइटल भी रख सकते थे जो आप आसानी से गेस कर सकते और यह आसानी से स्विटजरलैंड में नहीं मिलेंग.

आज 12 फरवरी को माई नेम इज खान ने अपने सात साल पूरे कर लिए हैं. इस फिल्म में शाहरुख खान और काजोल मुख्य किरदार में थे.  इसमें किंग खान ने एक ऐसे शख्स का किरदार निभाया था जो एसपर्गरल सिंड्रोम से पीड़ित होता है. इसके लिए उन्हें फिल्म फेयर का बेस्ट एक्टर अवॉर्ड दिया गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शाहरुख खान और करण जौहर ने अपने ट्विटर पेज पर आज इस फिल्म के बारें में लिखा कि यह एक तरह से दुख की बात है कि माई नेम इज खान आज भी प्रासंगिक है. लेकिन करण, रवि, काजोल, शिबानी निरंजन, दीपा, जिम्मी और पूरी कास्ट क्रू को एक स्पेशल फिल्म देने के लिए.

वहीं करण जौहर ने शाहरुख खान की एक फोटो शेयर करते हुए कैप्शन दिया- धन्यवाद रिजवान. अपना प्यार अपना संदेश, अपनी मासूमियत फैलाने के लिए. #7YearsOfMyNameIsKhan

Loading...