बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार और पटकथा लेखक कादर खान को 1 जनवरी को इंतकाल हो गया। उनके इंतकाल से फैंस और बॉलीवुड गलियारे में शोक की लहर है। कादर खान ने कनाडा के अस्पताल में अंतिम सांस ली। आज वह सुपुर्द-ए-खाक होंगे।

22 अक्‍टूबर 1937 को काबुल में पैदा हुए कादर खान स‍िव‍िल इंजीन‍ियर‍िंग के प्रोफेसर थे। नाटकों में काम करने के दौरान वह अभिनेता दिलीप कुमार की नजरों में आ गए और उन्‍हें पहली फ‍िल्‍म मिल गई। कादर खान ने बॉलीवुड में कदम फ‍िल्‍म दाग से रखा था जिसमें राजेश खन्‍ना लीड रोल में थे। इसमें कादर खान का रोल एक एडवोकेट का था। 

Loading...

उन्होंने लगभग 300 फिल्मों में काम किया और लगभग 200 फिल्मों को लिए स्क्रीन प्ले लिखा। 1970 से उन्होंने बॉलीवुड के हर बड़े कलाकार के साथ काम किया है। उन्‍हेंअमिताभ बच्‍चन को एंग्रीमैन बनाने का श्रेय भी जाता है। कादर खान ने ही शहंशाह जैसी फ‍िल्‍म के डायलॉग लिखे।

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक, कादर खान ने मेहनत से 69.8 करोड़ रुपये की संपत्‍त‍ि बनाई थी। ये संपत्‍त‍ि उन्‍होंने फ‍िल्‍मों की कमाई और विज्ञापनों की कमाई से बनाई थी।

कादर खान का जाना वैसे तो पूरे फ‍िल्‍म जगत के लिए क्षति है लेकिन गोव‍िंदा के लिए उनका जाना बहुत दुख की बात है। गोविंदा को कादर खान के निधन से झटका लगा है। उन्‍होंने ट्व‍िटर पर अपने दिल की बात बयां कर श्रद्धांजलि दी है। गोविंदा ने लिखा है- कादर खान साहब ने केवल मेरे उस्‍ताद थे, बल्‍कि मेरे लिए‍ पिता की अहमियत रखने वाले शख्‍स थे। उनके जाने से मैं बहुत दुखी हूं और फ‍िल्‍म जगत का हर शख्‍स दुखी है। 

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें