मुंबई | मशहूर अभिनेत्री करीना कपूर और सैफ अली खान के बेटे तैमूर ने दुनिया में आते ही हंगामा मचा दिया. पटौदी खानदान का एकमात्र वारिस पैदा होती ही सुर्खियों में आ गया. कुछ लोगो ने बेटे का नाम तैमूर रखने को लेकर करीना और सैफ की आलोचना करनी शुरू कर दी. लोगो ने तैमूर की तुलना, मंगोलिया के शासक तैमूर लंग के साथ करनी शुरू कर दी जो अपनी क्रूरता के लिए इतिहास में जाना गया.

हालाँकि बहुत से लोगो ने करीना और सैफ के इस फैसला का समर्थन भी किया. अचानक से तैमूर नाम इतिहास के पन्नो से निकलकर सोशल मीडिया की सुर्खियों में आ गया. शायद अब किसी माँ बाप से यह हक़ भी छीन लेना चाहते थे की वो अपने बेटे का नाम क्या रखेंगे. लेकिन इन सब आलोचनाओ के बावजूद करीना और सैफ ने अपना फैसला नही बदला और इन सब बातो से बेपरवाह ही रहे. हालाँकि सैफ ने जरुर इस मामले पर लोगो को फटकार लगायी लेकिन करीना ने चुप्पी ही साधे रखी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

20 दिसम्बर 2016 को तैमूर अली खान पटौदी ने इस दुनिया में जन्म लिया. अब करीब 48 दिन बाद करीना कपूर ने उस विवाद पर चुप्पी तोड़ी है. एक अख़बार को दिए गए इंटरव्यू में करीना से तैमूर नाम रखने को लेकर पैदा हुए विवाद पर सवाल किया गया. इसके जवाब में करीना ने कहा की यह घटना बड़ी ही अजीब थी. मुझे यह बात समझ ही नही आई आखिर लोगो ने मेरे बेटे के नाम को इतना पर्सनली क्यों लिया?

करीना ने आगे कहा की मैं एक बात साफ कर देना चाहती हूँ की इस नाम से किसी भी जीवित या मृत व्यक्ति का कोई सम्बन्ध नही है. चूँकि अरबी भाषा में तैमूर का मतलब लोहा होता है इसलिए यह नाम मुझे बहुत पसंद आया. बाकी इसके पीछे और कोई लॉजिक नही है. करीना से पहले सैफ अली खान भी इसी तरह का तर्क दे चुके है. फिलहाल यह विवाद थम चूका है और करीना भी वापिस बॉलीवुड में लौटने की तैयारी कर रही है.

Loading...