सोशल मीडिया पर एक समुदाय विशेष के खिलाफ भड़काऊ पोस्ट करने के मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने अंतरिम सुरक्षा दे दी है। साथ ही कोर्ट ने उन्हें 8 जनवरी को मुंबई पुलिस के सामने पेश होने का आदेश दिया है।

बता दें कि रनौत व उनकी बहन के खिलाफ देशद्रोह व अन्य आरोपों को लेकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। मुंबई पुलिस ने यह एफआईआर बांद्र कोर्ट के आदेश के तहत दर्ज की है। हाई कोर्ट ने कंगना रनौत और उनकी बहन की इस दलील को मानने से इनकार कर दिया कि वे एक पारिवारिक शादी में व्यस्त थीं।

अदालत में शिकायत कर्ता के वकील रिजवान मर्चेंट ने बहस की उन्होंने उम्मीद जताई कि कंगना को किसी भी तरह के भड़काने वाले या भड़काऊ ट्वीट करने से बचना चाहिए। वहीं अदालत में कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी का बयान रिकॉर्ड पर लिया कि FIR के संदर्भ में कंगना रनौत और रंगोली चंदेल सार्वजनिक डोमेन में टिप्पणी नहीं करेंगी।

सुनवाई के दौरान खंडपीठ ने इस मामले में देशद्रोह का आरोप लगाने पर भी सवाल उठाए। खंडपीठ ने कहा कि आखिर याचिकाकर्ताओं के खिलाफ देशद्रोह संबंधित धाराओं के तहत मामला क्यों दर्ज किया गया है। आखिर हम अपने देश के नागरिकों के साथ ऐसा बरताव क्यों कर रहे है। यह एक मामला नहीं है ऐसे बहुत से मामले हमारे सामने आ रहे हैं।

इस दौरान खंडपीठ ने सरकारी वकील को इस विषय पर पुलिसकर्मियों के लिए कार्यशाला आयोजित करने का भी सुझाव दिया। खंडपीठ ने फिलहाल मामले की सुनवाई 11 जनवरी 2021 तक के लिए स्थगित कर दी है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano