बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत के ऑफिस पर BMC ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आज अवैध हिस्से को गिरा दिया है। बीएमसी की ओर से बांद्रा वेस्ट के पाली हिल रोड पर स्थित कंगना रनौत के दफ्तर के कथित अवैध निर्माण की तोड़फोड़ की कार्रवाई गई। इसी बीच बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने बीएमसी की कार्रवाई पर रोक लगा दी है।

दरअसल, बीएमसी की ओर से कंगना अपना ऑफिस गिराए जाने के बीच बुधवार को ही हाईकोर्ट पहुंची थीं। मामले में संज्ञान लेते हुए हाईकोर्ट ने रनौत के दफ्तर को बीएमसी द्वारा तोड़ने पर रोक लगा दी है। रनौत के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा, ‘हमने तत्काल सुनवाई का अनुरोध करते हुए आज सुबह याचिका दायर की। हमने निर्माण ढहाए जाने की प्रक्रिया पर अंतरिम राहत के तौर पर रोक लगाए जाने का अनुरोध किया था।’

इसी बीच बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी को धर्म के आधार पर निशाना बनाने की कोशिश की। जिसका कंगना ने मुंह तोड़ जवाब दिया है। कपिल मिश्रा ने एक खबर का लिंक शेयर करते हुए ट्वीट किया ‘कंगना रनौत जी को इस खबर पर ध्यान देना चाहिए। अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी के लिए अभियान चलाने वाला रिजवान सिद्दीकी है कंगना का वकील। अर्नब के खिलाफ गवाह बनने के लिए मुंबई पुलिस को लिख चुका है। सफूरा जरगर के सपोर्ट में भी अभियान चला रहा है। उन्होंने अपने ट्वीट में कंगना रनौत को टैग भी किया।

कपिल मिश्रा के इस ट्वीट का जवाब देते हुए कंगना रनौत ने लिखा ‘मैं जानती हूं रिजवान सिद्दीकी जी और मेरी आईडियोलॉजी नहीं मिलती। मेरा स्नेह और विश्वास पाने के लिए उनका मेरे जैसा होना जरूरी नहीं है। मुझे सिर्फ अपने काम के प्रति उनकी निष्ठा चाहिए जो उनमें कूट-कूट कर भरी है।’ कंगना ने आगे लिखा ‘हमारा धर्म और संस्कृति दूसरों के विचारों का सम्मान करना सिखाती है’।

कंगना रनौत के इस ट्वीट पर अब सोशल मीडिया यूजर्स की प्रतिक्रिया भी सामने आ रही है। एक यूजर ने लिखा, ‘इस तरह के मामलों में धर्म का कोई लेना-देना नहीं है, हिंदू-मुसलमान भाई बहन की तरह हैं। कोई भी कुरान या मनुस्मृति या मुल्ला या साधु हमारी मोहब्बत को तोड़ नहीं सकता है।’ एक अन्य यूजर ने कहा, ‘कपिल मिश्रा के मुंह पर तमाचा है यह… बहुत अच्छा जवाब कंगना जी।’

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन