मोदी सरकार द्वारा कृषि सुधार (Agro Reform) के नाम पर लाये गए तीन विधेयकों का विरोध कर रहे किसानों को लेकर बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने विवादित बयान दिया है। कंगना ने विरोध कर रहे अन्नदाताओं को ‘आतंकवादी’ करार दिया।

कंगना ने ट्वीट कर कहा,  ‘हमें विभिन्न आतंकियों से इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है- भाई-भतीजावाद आतंकवाद, ड्रग्स माफिया आतंकवाद, लिंगभेद आतंकवाद, धार्मिक और क्षेत्रीय आतंकवाद, विदेशी फिल्मों का आतंकवाद, पाइरेसी आतंकवाद, मजदूरों के शोषण से जुड़ा आतंकवाद, प्रतिभा के शोषण का आतंकवाद।’

दूसरे ट्वीट में उन्होने लिखा,  ‘डब की गईं क्षेत्रीय फिल्मों को ज्यादातर पूरे भारत में रिलीज नहीं किया जाता है लेकिन डब की गईं हॉलीवुड फिल्मों को रिलीज किया जाता है। यह चिंताजनक है। कारण अधिकांश हिंदी फिल्मों की गुणवत्ता है और थिएटर स्क्रीन पर उनके एकाधिकार ने भी हॉलीवुड फिल्मों के लिए आकांक्षात्मक कल्पना पैदा की है।’

इससे पहले ट्वीट में उन्होने सीएए के खिलाफ विरोध करने वालों को आड़े हाथ लिया था। उन्होंने इस ट्वीट में लिखा था,”प्रधानमंत्री जी कोई सो रहा हो उसे जगाया जा सकता है, जिसे ग़लतफ़हमी हो उसे समझाया जा सकता है मगर जो सोने की ऐक्टिंग करे, नासमझने की एक्टिंग करे उसे आपके समझाने से क्या फ़र्क़ पड़ेगा? ये वही आतंकी हैं सीएए से एक भी इंसान की नागरिकता नहीं गयी मगर इन्होंने ख़ून की नदियाँ बहा दी।”

कंगना रनौत ने किसान बिल का समर्थन करते हुए ट्वीट किया, ‘वो जो दिन रात किसानों की दुर्दशा का शोर मचाते थे, वही आज देशहित में किसानों के सशक्तिकरण,आत्मनिर्भर बनाने वाले बिल का बहिष्कार कर, सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं को रोकना चाहते हैं। इन दुखी लोगों के दुःख शायद कभी ख़त्म नहीं होंगे।’

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano