Kangana made brand ambassador of Himachal

गौरक्षा के नाम पर जारी हिंसा पर बीजेपी का बचाव कर चुकी अभिनेत्री कंगना रनौत ने राजनीति में अपनी एंट्री को लेकर कहा कि उनका राजनीति में शामिल होने का कोई इरादा नहीं है।

कंगना ने कहा, “मुझे लगता है कि राजनीति को करियर के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। अगर मेरे जैसा कोई व्यक्ति राजनीति में शामिल होना चाहता है तो सबसे पहले उसे भौतिक संसार के सभी पीड़ाओं और सुखों को त्यागना होगा और तपस्वी या बैरागी बनना होगा।”

उन्होंने कहा, “अगर आप लोगों की सेवा करना चाहते हैं तो आपको अपने परिवार और अपने जीवन की अन्य चीजों को छोड़ना होगा। केवल तभी मैं देश की सेवा करने में सक्षम हो पाऊंगी और यही इरादा होना चाहिए।” कंगना ने कहा, “अभी मेरा करियर बहुत ही सफल है। इसलिए मैं किसी और क्षेत्र में अपना करियर नहीं बनाना चाहती हूं।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि इससे पहले मोब लिंचिंग पर बीजेपी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का बचाव करते हुए उन्होने कहा था, लिबरल कौन है? ये वो लोग हैं जो आपको तब तक अपने साथ नहीं आने देते हैं जब तक आप भी उनसे नफरत नहीं करते जिनसे वो करते हैं। अगर ये देश के भले के लिए है तो आप बीजेपी से नफरत करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।

उन्होने कहा था, ठीक है आप सब पर यकीन कीजिए और मान लीजिए कि जो भी हो रहा है वो प्रैक्टिकली अमित शाह ही कर रहे हैं। लेकिन मुझे ये समझ नहीं आ रहा है कि आखिर जब ये सब हो रहा है तो वो लिबरल्स कहा हैं, वो क्या कर रहे हैं देश के लिए?

Loading...