मशहूर एक्टर कादर खान का लम्बी बीमारी के बाद 81 साल की उम्र में कनाडा में नि’धन हो गया। भारतीय समयानुसार कादर ने 31 दिसम्बर की शाम 6 बजे आखिरी सांस ली। इसके बाद कनाडा में ही उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

कादर खान को अंतिम विदाई देने के लिए बेटे सरफराज खान समेत पूरा परिवार मौजूद था। हालांकि उनके जनाजे में एक भी स्टार शामिल नही हुआ। जनाजे की नमाज के बाद
बेटे सरफराज ने बताया कि कादर को चिंता थी कि जनाजे में कोई आएगा भी या नहीं।

Loading...

सरफराज ने मौजूद लोगों से कहा, मेरे वालिद अपने फैन्स से बेहद प्यार करते थे, उन्होंने बेटों और फैन्स में कोई अंतर नहीं समझा। वे कहते थे अगर तुम तीनों में से कोई मुझे नहीं पालेगा तो इनमें से कोई जरूर पाल लेगा। 

वीडियो में कादर खान के बेटे अपने वालिद के आखिरी रिचुअल्स पूरे करते दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान तीनों ही अपने आंसू रोक नहीं पा रहे थे। सरफराज खान ने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि जब उनके पिता का निधन हुआ तो पूरा परिवार वहीं मौजूद था और वे चेहरे पर मुस्कान के साथ इस दुनिया से विदा हुए।

उन्होंने कहा कि उनके पिता के आखिरी कुछ साल बहुत दर्द भरे रहे हैं। बीमारी ने उनको तोड़कर रख दिया था और उन्होंने टोरंटो में बेहतरीन मेडिकल सुविधाएं भी मुहैया कराई गईं।

वहीं कादर खान के दोस्त ने कहा, ‘वो एक असली पठान थे । 5 दिन तक उन्होंने ना कुछ खाया और ना पानी पिया । इसके बावजूद वो 120 घंटे तक जिंदगी से जंग लड़ते रहे। ये हर किसी के बस की बात नहीं थी ।’

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें