फिल्मों की तरह असल दुनिया में भी दमदार थे कादर खान, अनुपम खेर को बताया था मोदी का चापलूस

7:17 pm Published by:-Hindi News

बॉलीवुड अभिनेता कादर खान ने आज दुनिया को अलविदा कह दिया है। बेटे सरफराज ने कादर खान के निधन की पुष्टि की है। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे और पिछले कुछ समय से कनाडा के एक अस्‍पताल में भर्ती थे।

शानदार अदाकारी के लिए दुनिया भर में पहचाने जाने वाले कादर खान फिल्मी दुनिया के किरदारों की तरह ही असल दुनिया में भी दमदार थे। दरअसल, कादर को कभी उनकी शानदार अदाकारी के लिए बड़े सम्मान से नवाजा नहीं गया। जिसकी शिकायत उन्होने 2016 में अनुपम खेर को पद्मश्री मिलने पर की थी।

एक सवाल के जवाब में कादर खान ने आईएएनएस से कहा था, “ये अच्छा है कि उन्होंने मुझे पद्मश्री नहीं दिया। मैंने मेरी जिंदगी में कभी चापलूसी नहीं की और कभी नहीं करूंगा। अनुपम खेर ने नरेंद्र मोदी (प्रधान मंत्री) की चापलूसी करने के अलावा किया क्या है? मैं सरकार द्वारा उन्हें अवॉर्ड देने के फैसले का विरोध नहीं कर रहा, लेकिन जानना चाहता हूं कि उन्होंने ऐसा क्या किया है, जो अवॉर्ड दिया जा रहा है। मुझमें कहां कमी रह गई।”

बता दें कि कादर खान को लंबे समय से सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और डॉक्टर उन्हें नियमित वेंटीलेटर और बीपीएपी वेंटीलेटर पर रख रहे थे। उनके दिमाग ने भी काम करना बंद कर दिया था । उन्हें रेगुलर वेंटीलेटर से हटाकर बाईपैप वेंटीलेटर पर रखा गया था। कादर खान प्रोगेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी डिसऑर्डर नाम की बीमारी से जूझ रहे थे। इस बीमारी की वजह से कादर खान का दिमाग बुरी तरह से प्रभावित हुआ था। वहीं उन्हें सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी।

उनके बेटे सरफराज ने पीटीआई को बताया, ‘मेरे डैड हमें छोड़कर चले गएए हैं। कनाडा के टाइम के मुताबिक 31 दिसंबर शाम छह बजे उनका निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वे दोपहर को कौमा में चले गए थे। वे 16-17 हफ्ते से अस्पताल में थे। उनका अंतिम संस्कार कनाडा में ही किया जाएगा। हमारा पूरा परिवार यहीं पर है और हम यहां लंबे समय से रह रहे हैं। हम सबकी दुआओं के लिए उनका शुक्रिया अदा करते हैं।’



खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें