15 करोड़ वाले बयान पर एआईएमआईएम नेता वारिस पठान पर हुई एफ़आईआर को लेकर खुशी जताते हुए बॉलीवुड के जानेमाने गीतकार और स्क्रीन प्ले राइटर जावेद अख्तर ने अब केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर उनके मुस्लिमों को पाकिस्तान भेजे जाने वाले बयान पर एफ़आईआर दर्ज करने की मांग की।

उन्होने ट्वीट किया,  ‘मुझे खुशी है कि वारिस पठान के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की गई है। गिरीराज सिंह के खिलाफ एक एफआईआर भी दर्ज की जानी चाहिए, सभी मुसलमानों को पाकिस्तान भेज दिया जाना चाहिए, यह टिप्पणी करके उन्होंने न केवल भारतीय मुसलमानों का अपमान किया है, बल्कि भारतीय संविधान का भी अपमान किया है।’

दरअसल, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पूर्णिया में बयान दिया कि आजादी के समय ही भारत के सभी मुसलमानों को पाकिस्तान भेज देना चाहिए था। हमारे पूर्वजों ने बहुत बड़ी गलती की थी। देश के विभाजन के कारणों में एक वाजिब नागरिकता का बड़ा सवाल था। देश विभाजन के समय चूक हुई। जिसकी कीमत हम चुका रहे हैं। देश के सामने यह स्वीकार करने का वक्त है। अगर भारत में ही भारतवंशियों को जगह नहीं मिलेगी, तो दुनिया में ऐसा कौन सा देश है जो उन्हें शरण देगा।

गिरिराज के इस बयान पर लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी गिरिराज सिंह के बयान से असहमति जताई है। चिराग ने कहा, उनका बयान विभाजनकारी है। इस तरह  बयान से मैं सहमत नहीं। इस तरह समाज को बांटने वाली किसी बात का मैं समर्थन नहीं करता। इस तरह के बयान के बाद दिल्ली में हमने अपना हश्र देख लिया है।

वहीं बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि अगर मुसलमान न होते तो कलाम साहब (अब्दुल कलाम), मौलाना अबुल कलाम आजाद और शाहनवाज हुसैन जैसे लोग कहां से मिलते। ये वो लोग हैं जिन्होंने देश के लिए बहुत योगदान दिया है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन