इरफान खान के बड़े बेटे बाबिल खान ने मुस्लिम होने की वजह से उनके साथ हो रहे भेदभाव का खुलासा करते हुए कहा कि भारत के अचानक अलग-अलग धर्मों में बंट जाने की वजह से अब वे अपनी बात रखने में डरते हैं। उन्होंने कहा कि वो नहीं चाहते लोग उन्हें उनके धर्म के हिसाब से जज करें।

आज तक के अनुसार, बाबिल ने लिखा, शुक्रवार को ईद की छुट्टी कैंसिल कर दी गई है जबकि सोमवार को आने वाले रक्षाबंधन की छुट्टी दी गई है। ठीक है उसमें कोई दिक्कत नहीं, मैन उस दिन ईद मना लूंगा जब ईद नहीं है यानी शनिवार को। उन्होंने आगे लिखा, ‘मैं जनता हूं कि पूरी दुनिया इस समय उथल-पुथल हो गई है लेकिन हमारे धर्मनिरपेक्ष भारत का अचानक धार्मिकता के हिसाब से बंट जाना सही में डराने वाला है।

उन्होने कहा, मेरे दोस्त हैं, जिन्होंने मुझसे बात करना छोड़ दिया है क्योंकि मैं किसी और धर्म का हूं। दोस्त जिनके साथ मैं 12 साल की उम्र में क्रिकेट खेलता था। मैं उन्हें मिस करता हूं। मेरे हिन्दू, मुस्लिम, क्रिस्चियन, सिख, इंसान दोस्त। मैं मिस करता हूं उन दिनों को जब मेरा सरनेम क्या है इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता था।’

बाबिल ने बताया, कैसे लोग उन्हें पाकिस्तानी बुलाएंगे या फिर कहेंगे कि राष्ट्र विरोधी हैं। बाबिल ने कहा कि इन बातों से कुछ नहीं होने वाला क्योंकि वो अपने वतन भारत से प्यार करते हैं। उन्होंने लिखा, ‘मैं इंतजार कर रहा हूं कि आपके ‘तो पाकिस्तान जा न फिर राष्ट्र विरोधी आदमी’ वाले कमेंट्स का…

सबसे पहली बात बता दूं कि मैं भारत से प्यार करता हूं। मैं ये इसलिए बता रहा हूं क्योंकि मैं अपनी पढ़ाई लंदन में करता हूं और जब भी मैं वहां जाता हूं मुझे अपनी घर वापस आने का इंतजार रहता है। मैं अपने दोस्तों संग रिक्शा में बैठकर घूमने का इंतजार करता हूं, अक्सा बीच पर पानी पूरी खाने का इंतजार करता हूं, कहीं में घूमने, भीड़भाड़ में जाने का इंतजार करता हूं। मुझे भारत से प्यार हैं। तुम मुझे राष्ट्र-विरोधी बुलाने की हिम्मत भी मत करना। मैं वादा करता हूं, मैं एक बॉक्सर हूं, तुम्हारी नाक तोड़ दूंगा।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन