marse

marse

हाल में रिलीज हुई मशहूर अभिनेता विजय अभिनीत तमिल फिल्म ‘मेर्सल’ में जीएसटी और नोटबंदी का जिक्र आने से बीजेपी तिलमिलाई हुई है. शुक्रवार को पार्टी ने फिल्म से GST और नोटबंदी से जुड़े सीन को हटाने की मांग की है.

भारतीय जनता पार्टी की तमिलनाडु प्रमुख तमिलिसाई सुंदरराजन ने कहा कि फिल्म में केंद्र सरकार की स्कीम्स और हिंदू धर्म के बारे में गलत जानकारी दी गई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, ‘मूवी में जीएसटी के बारे में गलत जानकारी दी गई है. सेलेब्स को लोगों के बीच गलत जानकारी देने से बचना चाहिए. अपने विचार रखना उनका अधिकार है, लेकिन हिंदू धर्म, डिजिटल ट्रांजेक्शन, नोटबंदी और जीएसटी के बारे में गलती जानकारी देने की हम लोग निंदा करते हैं.’

वहीँ केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन ने कहा, ‘निर्माता को फिल्म में जीएसटी से संबद्ध गलत दृश्यों को हटा देना चाहिए.” उन्होंने कहा कि सिनेमा के माध्यम से ना तो गलत सूचना प्रसारित की जानी चाहिए और ना ही अभिनेताओं को इस माध्यम का इस्तेमाल कर लोगों को दिग्भ्रमित करना चाहिए तथा ना ही राजनीतिक लाभ लेने का प्रयास करना चाहिए.

इसी बीच पीएमके ने बीजेपी की इस ऐतराज पर सवाल उठाया है। पीएमके यूथ विंग के लीडर और लोकसभा सांसद अन्बूमनी रामादौस ने कहा कि फिल्म में जीएसटी का संदर्भ मुफ्त मेडिकल केयर मुहैया कराने के संदर्भ में किया गया है. केंद्र सरकार द्वारा गठित सेंसर बोर्ड ने फिल्म के रिलीज़ को हरी झंडी दी है, ऐसे में इसकी आलोचना करना उचित नहीं है.

Loading...