फिल्म डाइरेक्टर और प्रोड्यूसर रामगोपाल वर्मा ने यूपी सरकार के एंटी रोमियो स्क्वॉड पर ऊँगली उठाते हुए कहा कि ‘अगर भारत एक ग्रुप को एंटी रोमियो स्क्वॉड कहा जाता है, तो अगर इटली के लोग अपने देश में एक ऐसे ही समूह को एंटी कृष्णा स्क्वॉड कहें तो क्या योगी आदित्यनाथ को ठीक लगेगा?”

उन्होंने यूपी सरकार के इस फैसले को इस नाम के आधार पर चालू रखने को गैर-जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि मुझे पता है कि यह वाक्यांश रोडसाइड रोमियो से पैदा हुआ होगा, लेकिन सरकारी आदेश के तहत इसे इस्तेमाल करना गैरजिम्मेदाराना है.

वर्मा ने  ट्वीट कहा, ‘टीमों का नाम एंटी रोमियो रखने से मैं परेशान हूं. एक शानदार प्रेमी रोमियो ईव टीजिंग करने वाले गुंडे का पर्याय कैसे बन सकता है. उन्होंने आगे लिखा, मुझे पता है कि यह वाक्यांश रोडसाइड रोमियो से पैदा हुआ होगा, लेकिन सरकारी आदेश के तहत इसे इस्तेमाल करना गैरजिम्मेदाराना है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

फिल्म डाइरेक्टर ने कहा, सभी को रोमियो नाम देना उस नाम के शख्स की छवि को नुकसान पहुंचाने जैसा है. मेरे मुताबिक इस स्क्वॉड का नाम एंटी ईव टीजर्स स्क्वॉड होना चाहिए. मैंने सिर्फ दोनों की तुलना की है और रोमियो एक सच्चा प्रेमी था, इश्कबाज नहीं.

याद रहे इससे पहले वकील प्रशांत भूषण ने एंटी रोमियो स्क्वाड पर सवाल उठाया था. उन्होंने कहा था, रोमियो ने केवल एक से प्यार किया था जबकि भगवान कृष्ण तो लड़कियों को छेड़ने के लिए मशहूर थे. ऐसे में क्या आदित्यनाथ के अंदर हिम्मत है कि वो एंटी रोमियो स्क्वाड को एंटी कृष्ण स्क्वाड कहेंगे?

Loading...