पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने हैदराबाद क्रिकेट संघ (एचसीए) पर अनियमितताओं का आरोप लगाया. साथ ही उन्होंने उसके चयन पैनल को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करने की मांग की.

उन्होने कहा कि हैदराबाद क्रिकेट संघ लोढ़ा समिति के सुझावों पर अमल नहीं कर रहा और दूसरी अनियमितताओं और दुरुपयोग में संलग्न है. उन्होने कहा कि मोइनुद्दौला गोल्ड कप के लिये घोषित HCA की दोनों टीमों में उन खिलाडियों को शामिल नहीं किया गया है जिन्होंने सीमित ओवरों के प्रारूप में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पूर्व कप्तान ने कहा, ‘चयनकर्ताओं की नियुक्ति में भी लोढ़ा समिति की सिफारिशों पर अमल नहीं किया गया. लोढ़ा समिति के अनुसार कम से कम 25 प्रथम श्रेणी मैच खेल चुके खिलाड़ियों को ही चयनकर्ता बनाया जाना चाहिए. मैं मीडिया से अपील करता हूं कि एचसीए में चल रही धांधलियों को उजागर करे.

अजहरुद्दीन ने एचसीए के सचिव टी शेष नारायण पर निशाना साधते हुए कहा कि इसमें ऐसे लोगों को शामिल किया जाता है जो सत्ता के भूखे हैं और उन्हें खेल के बारे में मामूली ज्ञान भी नहीं होता है

हालांकि चसीए अध्यक्ष जी विवेकानंद ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा, प्रशासकों की समिति इस पर नजर रखे हुए है कि लोढा समिति के सुझाव लागू हो रहे हैं या नहीं. मामला न्यायालय के विचाराधीन है. यदि कोई मसला है तो अजहर उच्चतम न्यायालय के पास जा सकते हैं.

Loading...