MUMBAI, INDIA - MARCH 14: Bollywood actor Aamir Khan with his wife Kiran and son Azad celebrating Holi with colors on March 14, 2014 in Mumbai, India. (Photo by Satish Bate/Hindustan Times via Getty Images)
MUMBAI, INDIA – MARCH 14: Bollywood actor Aamir Khan with his wife Kiran and son Azad celebrating Holi with colors on March 14, 2014 in Mumbai, India. (Photo by Satish Bate/Hindustan Times via Getty Images)

बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान आज 52 साल के हो चुके हैं. आमिर का जन्म 14 मार्च 1965 को मुम्बई (महाराष्ट्र) में हुआ. बॉलीवुड पर 25 से भी ज्यादा सालों से राज कर रहे आमिर के पास मिस्टर परफेक्शनिस्ट का ये सफर इतना आसान नहीं रहा हैं.

जन्मदिन के खास मौके पर पढ़िए उनके मिस्टर परफेक्शनिस्ट बनने की पूरी कहानी:

  • आमिर का जन्म जन्म मुंबई में हुआ, उनका पूरा नाम आमिर हुसैन खान है. उनके पिता का नाम ताहिर हुसैन और मां का नाम जीनत हुसैन है. आमिर के भाई का नाम फैजल खान, बहनों का नाम फरहत खान और निखत खान है. उनके पिता ताहिर हुसैन फिल्ममेकर निर्माता थे, उनके चाचा नासिर हुसैन निर्माता-‍निर्देशक थे.
  • आमिर की पहली शादी रीना दत्ता से हुई, जिनसे उनके दो बच्चे हैं. बेटे का नाम जुनैद और बेटी का नाम इरा है. रीना दत्ता से तलाक होने के बाद उनकी शादी किरन राव से हुई.
  • आमिर एक्टर बनने से पहले टेनिस प्लेयर थे. उन्होंने स्टेट लेवल पर कई चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया और अंडर 12-14 ग्रुप में चैम्पियन रहे. पिता ताहिर हुसैन ने एक बार इंटरव्यू में कहा था कि आमिर ने नेशनल लेवल पर भी टेनिस खेला है.
  • आमिर की पढ़ाई मुंबई में हुई, उन्होंने पहली बार चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में अपने पिता की प्रोडक्शन कंपनी की फिल्म ‘यादों की बारात’ में नजर आए थे. उसके 11 साल बाद आमिर फिल्म ‘होली’ में भी नजर आए, लेकिन इस फिल्म में भी किसी ने उनको नोटिस नहीं किया.
  • जब आमिर टीनएजर थे, तब उन्होंने FTII (फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया) ज्वॉइन करने की इच्छा जाहिर की, जो उस समय शुरू ही हुआ था. उनके पिता ने इजाजत नहीं दी, क्योंकि वे चाहते थे कि आमिर पढ़ाई पर ध्यान दे.
  • ताहिर हुसैन के अनुसार, आमिर उनसे बहस करने लगे और बोले- “जिसे डॉक्टर बनना है, वो मेडिकल कॉलेज जाता है. मैं डायरेक्टर बनना चाहता हूं, इसलिए मुझे FTII जाने की इजाजत दें. आमिर ने इस दौरान कहा कि यह बहुत अच्छा इंस्टीट्यूट है, जिसे सरकार से भी अनुमति मिली हुई है.
  • बाद में ताहिर ने आमिर को कहा कि उन्हें FTII जाने की बजाय अपने चाचा नासिर हुसैन को असिस्ट करना चाहिए और डायरेक्शन के गुर सीखने चाहिए. पिता की सलाह पर आमिर ने ऐसा ही किया. उन्होंने नासिर के साथ ‘मंजिल मंजिल’ (1984) और ‘जबरदस्त’ को असिस्ट किया है.
  • 1988 में आमिर अपने कजिन मंसूर खान की डायरेक्टेड फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ में लीड एक्टर के तौर पर दिखे, जो उनके करियर की पहली सुपरहिट फिल्म रही. इस फिल्म ने उन्हें रातोंरात सुपरस्टार्स की कतार में खड़ा कर दिया.
  • कयामत से कयामत तक’ के बाद आमिर की कई फिल्में आईं लेकिन बॉक्स ऑफिस पर कोई कमाल नहीं दिखा पाई. इसी बीच आमिर की फिल्म ‘जो जीता वो सिकंदर’ और माधुरी के साथ फिल्म ‘दिल’ ने उन्हें रोमांटिक हीरो बना दिया. 1996 में करिश्मा कपूर के साथ आई फिल्म ‘राजा हिंदुस्तानी’ ने बॉक्स ऑफिस पर कामयाबी के झंडे गाड़ दिए.
  • साल 2001 में आमिर ख़ान ने इतिहास रचा जब उनकी फ़िल्म ”लगान” को ऑस्कर के लिए चुना गया. आमिर ”लगान” के बाद एक अलग लीग के हीरो बन चुके थे और लोगों को उनकी फ़िल्मों से एक अलग तरह की उम्मीद लग चुकी थी, सिने प्रेमियों और सिनेमा वालों, दोनों का ही मानना था कि ऑस्कर तो आमिर ही लाएंगे.
  • आमिर खान ने अवॉर्ड्स लेने से इनकार कर सभी का ध्यान अपनी तरफ खींचा था। बड़े-बड़े अवॉर्ड्स शो में जाने से इनकार करने वाले आमिर का आज भी यही सिलसिला है. आमिर अवॉर्ड्स शो में नहीं जाते हैं उनका कहना है कि वो अवॉर्ड्स में विश्वास नहीं रखते.
मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?