‘बदले में यूपी-बिहार ले ले’ – 23 साल बाद गोविंदा और शिल्पा शेट्टी को कोर्ट से मिली राहत

11:45 am Published by:-Hindi News

झारखंड उच्च न्यायालय ने 23 साल पहले गोविंदा और शिल्पा शेट्टी को एक गाने से जुड़े विवाद में निचली अदालत द्वारा उनके खिलाफ जारी समन रद्द कर दिये हैं।

बता दें कि फिल्म ‘छोटे सरकार’ के गाने ”इक चुम्मा तू मुझको उधार देई दे, बदले में यूपी-बिहार लेई ले…” ने काफी धूम मचाई थी। लेकिन यूपी और बिहार वालो ने इस गाने की लिरिक्स के खिलाफ आपत्ति जताते हुए गोविंदा और शिल्पा के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। यह शिकायत 1997 में पाकुड़ (अब झारखंड में) सीजेएम की कोर्ट में की गई थी।

शिकायत कर्ता मोहिनी मोहन तिवारी नेने इस गाने को अश्लील होने के अलावा बिहार-यूपी का अपमान करने की शिकायत भी की थी। इस याचिका पर संज्ञान लेते हुए सीजेएम  चीफ जस्टिस मजिस्ट्रेट  ने गोविंदा और शिल्पा को धारा 294 (अश्लील गाना) और 500 (अवमानना) के तहत नोटिस भेजा था।

हालांकि न्यायमूर्ति ए के गुप्ता की पीठ ने गुरुवार को पाकुड़ अदालत द्वारा जारी किए गए समन को रद्द कर दिया, अदालत द्वारा बचाव पक्ष के वकील का तर्क स्वीकार किया गया। जिसके बाद अदालत ने इस मामले पर अपना फैसला दिया।

बचाव पक्ष के वकील अभय मिश्रा ने उच्च न्यायालय की खंडपीठ को बताया कि सिनेमाटोग्राफ अधिनियम, 1952 के अनुसार फिल्में दिखाई जाती हैं। सेंसर बोर्ड फिल्मों को दिखाने के लिए प्रमाण पत्र और लाइसेंस देता है और यह फिल्म भारतीय दंड संहिता के दायरे में नहीं आती है। इसलिए समन को रद्द कर दिया जाना चाहिए।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें