सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, सुनील ग्रोवर, तिग्मांशु धूलिया जैसे दिग्गज कलाकारों स्टारर वेब सीरीज तांडव (Web Series Tandav) रिलीज होते ही विवादों में आ गई है। सीरीज के निर्देशक अली अब्बास जफर के खिलाफ हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान और जातिगत भावनाओं को भड़काने के आरोपों में एफ़आईआर दर्ज की गई है।

लखनऊ के हजरतगंज थाने के वरिष्ठ उपनिरीक्षक अमरनाथ यादव की तहरीर पर  OTT प्लेटफॉर्म अमेज़न प्राइम वीडियो की ओरिजनल कंटेंट हेड इंडिया अपर्णा पुरोहित, तांडव वेब सीरीज़ के डायरेक्टर अली अब्बास जफर, प्रोड्यूसर हिमांशु कृष्णा मेहरा और राइटर गौरव सोलंकी के खिलाफ नामजद और एक अन्य अज्ञात समेत 5 लोगों के खिलाफ हजरतगंज थाने में कई गंभीर धाराओं में एफआईआर कराई गई है।

वरिष्ठ उपनिरीक्षक अमरनाथ यादव ने अपनी तहरीर में वेब सीरीज़ तांडव के पहले एपिसोड के 17वें मिनट में एक ओर जहां हिन्दू देवी-देवताओं को अमर्यादित तरीके से दिखाकर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाया गया है, तो वहीं 22वें मिनट में जातिगत भावनाओं को भड़काने वाले संवाद के साथ ही साथ भारत के प्रधानमंत्री जैसे गरिमामयी पद को ग्रहण करने वाले व्यक्ति का चित्रण भी अत्यंत अशोभनीय ढंग से किये जाने का आरोप लगाया है।

वहीं दूसरी और भाजपा सांसद मनोज कोटक ने पत्र लिखकर सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से प्रतिबंध लगाने का रविवार को अनुरोध किया। मुंबई उत्तर-पूर्व से सांसद कोटक ने आरोप लगाया है कि ऐसे मंचों पर अक्सर हिंदू देवी-देवताओं को गलत तरीके से दिखाने का प्रयास किया जाता है। उन्होंने कहा कि विभिन्न संगठनों और व्यक्तियों ने शिकायत की है कि ‘तांडव’ वेब सीरीज में हिंदू देवी-देवताओं का उपहास किया गया है। कोटक ने कहा है कि अभिनेताओं, निर्माता और निर्देशक को भावनाओं को आहत करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।

क अन्य नेता एवं घाटकोपर पश्चिम से भाजपा विधायक राम कदम ने भी निर्देशक से वेब सीरीज के उस हिस्से को हटाने के लिए कहा जिसमें भगवान शिव का कथित रूप से उपहास किया गया है। विधायक ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में उपनगरीय घाटकोपर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायतों के बारे में संपर्क किए जाने पर अमेजन प्राइम वीडियो पीआर ने कहा है कि प्लेटफॉर्म मामले पर प्रतिक्रिया नहीं देगा। इसी बीच महाराष्ट्र सरकार ने सैफ अली खान और करीना कपूर के घर की सुरक्षा बढ़ा दी है।