dyna

पूर्व मिस वर्ल्ड डायना हेडन को लेकर दिए गए अपने हालिया बयान के चलते त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब की चौतरफा आलोचना हो रही है. इस मामले में अब खुद डायना हेडन ने खुद बिप्लब देब को जवाब दिया है. डायना ने कहा कि उनके विदेशी दिखने वाले भूरे रंग पर गर्व है.

डायना ने कहा, “उन्हें भूरे रंग का होने के कारण, भारत में ‘हल्का रंग अच्छा होता है’ की सोच से लड़ना पड़ा था. मैं इसके बारे में इतनी दृढ़ थी कि मैंने एक सौंदर्य विज्ञापन को सिर्फ इसलिए मना कर दिया, क्योंकि यह मेरे विश्वास के खिलाफ था. हम भारतीयों का रंग मुख्य रूप से भूरा होता है और हमें इस पर गर्व होना चाहिए और इसका सम्मान करना सीखना चाहिए जैसा दुनिया भर में किया जाता है.”

डायना ने कहा, “मुख्यमंत्री के दिमाग में भी काले और गोरे की समझ को लेकर फर्क है, तभी उन्होंने मेरी तुलना ऐश्वर्या राय से की प्रियंका और मानुषी से नहीं.” उन्होंने कहा, “उन पर शर्म आती है, क्योंकि मुझे अपने सुंदर, विदेशी दिखने वाले भूरे रंग पर गर्व है. मैं आश्वस्त हूं.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

tri

बता दें कि बिप्लब देब ने कहा था, “अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिताओं में पांच सालों तक भारत के हिस्से में मिस वर्ल्ड/मिस यूनिवर्स के ताज आए. डायना हेडन भी जीत गईं. क्या आपको लगता है कि उन्हें ताज जीतना चाहिए था?” बिप्लब देब ने कहा कि पूर्व मिस वर्ल्ड ऐश्वर्या राय भारतीय महिलाओं की सुंदरता का प्रतिनिधित्व करती हैं, डायना हेडन नहीं.

उन्होंने आगे कहा था कि बीते दौर में भारतीय महिलाएं कॉस्मेटिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करती थीं. बाल शैंपू की बजाय मेथी के पानी से धोती थीं. मुल्तानी मिट्टी से नहाती थीं. उन्होंने कहा, “जब से भारतीय महिलाओं ने मिस वर्ल्ड जैसी प्रतियोगिताएं जीतना शुरू कीं तभी से विदेशी कंपनियों के कॉस्मेटिक उत्पाद भारतीय बाजारों में आने लगे. प्रतियोगिता के आयोजकों ने देश के मार्केट पर कब्जा कर लिया. आज देश के हर कोने में एक ब्यूटी पार्लर है.”