महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग (एमएसडब्ल्यूसी) ने बुधवार को अभिनेता सलमान खान की रेप विक्टिम वाले बयान पर उनके जवाब को अस्वीकार कर दिया और उन्हें सात जुलाई को व्यक्तिगत रूप से पेश होने का निर्देश दिया है।

सलमान ने अपने वकील के माध्यम से 28 जून को दिए जवाब में कहा था कि मामला राष्ट्रीय महिला आयोग के समक्ष विचाराधीन है, इसलिए दोहराव से बचने के लिए इसे एमएसडब्ल्यूसी के तहत जारी नहीं रखा जाना चाहिए। एमएसडब्ल्यूसी की अध्यक्ष विजया राहतकर ने कहा, “हमारे पास एनसीडब्ल्यू के समान ही समवर्ती शक्तियां हैं। इस मामले की सुनवाई राज्य स्तर पर भी की जा सकती है। इसलिए उनका कथन अमान्य है।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अध्यक्ष ने कहा कि अभिनेता को सात जुलाई को अपने वकीलों सहित एमएसडब्ल्यूसी के कार्यालय में आने का आदेश दिया गया हैराहतकर ने कहा, “हमने उन्हें एक हलफनामे के जरिए अपना विचार रखने को कहा है।”

Loading...