केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों की पिज्जा खाती वायरल हो रही तस्वीरों पर पंजाबी कलाकार दिलजीत दोसांझ (Diljit Dosanjh) ने आलोचकों को करार जवाब दिया है।

दिलजीत ने ट्वीट कर कहा, ‘जब किसान जहर खा रहा था तब तुम्हारे मुंह से कोई सवाल नहीं निकला और आज जब वो पिज्जा खा रहे हैं तो तुम्हे सवाल याद आ रहा है।’ बता दें कि दिलजीत दोसांझ भी लगातार किसान आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं।

हाल में सोशल मीडिया में एक तस्वीर खूब वायरल हुई जिसमें प्रदर्शनकारी किसान आंदोलन स्थल पर पिज्जा बन रहा थे। तस्वीर शेयर कर कुछ लोगों ने सवाल उठाते हुए कहा कि आंदोलन करने वाले लोग पिकनिक मना रहे हैं। जिस पर दिलजीत ने ये करारा जवाब दिया।

वहीं ‘पिज्जा लंगर’ का आयोजन करने वाले शनबीर सिंह संधू ने कहा कि, ”जो किसान पिज्जा के लिए आटा मुहैया कराते हैं उन्हें भी पिज्जा मिलना चाहिए।” संधू ने कहा कि, ”दाल-चपाती का नियमित लंगर लगाने के लिए हमारे पास समय नहीं था…इसलिए हमने ऐसा लंगर लगाने का विचार किया।”

संधू के मित्र शहनाज गिल ने कहा कि लोग रोजाना एक ही खाना खाकर बोर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि, ”हमने सोचा कि हमें उन्हें कुछ ऐसी चीज देनी चाहिए कि उनका उत्साहवर्धन हो सके।” गिल ने कहा कि किसी को ये टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है कि किसान क्या खाएं या क्या पहनें।