कमाई का रिकॉर्ड बनाने वाली फिल्म दंगल के बाद पहलवान गीता-बबीता के जीवन पर अब दंगल-2 फिल्म बनाने की तैयारी है। इसके लिए जरुरी औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं। पहलवान महावीर फौगाट ने इसकी पुष्टि की है।

एक हिंदी अख़बार से बातचीत में महावीर सिह ने बताया कि बेटियों को पहलवान बनाने के लिए वर्ष 2000 में संघर्ष शुरू किया था। उस जमाने में बेटियों को पहलवान बनाने की बात लोग सोचते तक नहीं थे।

महावीर बताते हैं कि वर्ष 2005 में उनकी बेटियों को विदेश में खेलने जाना था, लेकिन काफी प्रयास के बाद भी उनको पासपोर्ट नहीं दिया गया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने बेटियों से कहा कि हमारा संघर्ष बेकार नहीं जाएगा, अगली बार देखते हैं। कब तक पासपोर्ट नहीं मिलेगा एक दिन उनकी उपलब्धियां खुद पासपोर्ट दिलाने आगे आएंगी और वहीं हुआ।

दंगल-2 की तैयारी के बारे में महावीर सिह कहते हैं कि ‘दंगल’ संघर्ष का नाम है। उन्होंने और बेटियों ने संघर्ष किया। आज सब उसकी सराहना करते हैं।

Loading...