भारत के दाएं हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने ब्रिसबेन के गाबा स्टेडियम में खेल के चौथे दिन इतिहास रच दिया। उन्होने इस दौरे की आखिरी पारी में 5 विकेट लेकर नया कीर्तिमान स्थापित किया। वह गाबा के मैदान पर एक पारी में 5 या इससे अधिक विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की लिस्ट में शामिल हो गए।

सिराज ने टेस्ट करियर में पहली बार पारी में पांच विकेट लिए हैं। उन्होंने 73 रन देकर 5 विकेट लिए। सिराज ने जोश हेजलवुड (9) को शार्दुल ठाकुर के हाथों कैच कराकर पारी का 5वां विकेट झटका। इसके साथ ही मेजबान टीम की दूसरी पारी 294 रनों पर समटी और भारत को सीरीज पर कब्जा करने के लिए 328 रनों का लक्ष्य मिला है।

गौरतलब है कि मोहम्मद सिराज ने अपने आस्ट्रेलिया दौरे के दौरान काफी उतार-चढ़ाव देखे। आस्ट्रेलिया में क्वारंटीन रहने के दौरान उनके पिता का निधन हो गया था। वह अपने पिता की अंतिम यात्रा में भी शामिल नहीं हो पाए थे।

पिता को याद करते हुए  उन्होंने कहा, ‘मेरे अब्बू चाहते थे कि मेरा बेटा देश की तरफ से खेले और पूरा विश्व उसे खेलते हुए देखे। काश वह आज का दिन देखने के लिए जीवित होते। यह उनकी दुआओं का ही परिणाम है कि मैंने पांच विकेट लिये। मैं निशब्द हूं और अपनी भावनाओं को शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता हूं।’

उन्होंने कहा, ‘यह मुश्किल स्थिति थी। अब्बू के निधन के बाद मां से बात करने पर मुझे ताकत मिली और मैंने अपना ध्यान अब्बू का सपना पूरा करने पर लगा दिया।’ सिराज को इस मैच से पहले केवल दो टेस्ट मैचों का अनुभव था लेकिन उन्होंने सीनियर गेंदबाजों की अनुपस्थिति में आक्रमण की अगुवाई की।

उन्होंने कहा, ‘मैं खुद को सीनियर गेंदबाज नहीं मानता लेकिन मैंने घरेलू स्तर और भारत ए की तरफ से काफी क्रिकेट खेली है और इससे मुझे मदद मिली। मुझे जस्सी भाई (जसप्रीत बुमराह) की कमी खली और इसलिए मैंने अधिक जिम्मेदारी ली तथा दबाव बनाया।’