राजधानी दिल्ली में अपनी अपकमिंग फिल्म छपाक के प्रोमोशन के दौरान बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण 5 जनवरी को जेएनयू कैंपस में नकाबपोशों द्वारा हमले में घायल छात्रों और शिक्षकों से मिलने के लिए जेएनयू पहुँची। वह 7  जनवरी की शाम पहुंची। दीपिका यहां लगभग 10 मिनट रहीं लेकिन एक शब्द तक नहीं बोलीं।

दीपिका की ये चुप्पी अब लोगों को खटक रही है। जब दीपिका केम्पस में मौजूद थी। इस दौरान जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार नारे लगा रहे थे।  बाद में उन्होंने कहा कि ‘दीपिका पादुकोण आई थीं, हम देख ही नहीं पाए।’ यही नहीं कन्हैया कुमार ने कहा कि ना ही उनसे मिले ना ही कोई बात हुई है।

वहीं दीपिका ने जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) अध्यक्ष आइशी घोष से भी मुलाकात की जो हिंसा में घायल हो गईं थीं। इस दौरान आइशी ने दीपिका से कहा कि ‘आपकी एक हस्ती है तो आप को बोलना चाहिए।’ आइशी के इस बात पर दीपिका ने मुस्कुरा कर हाथ जोड़ लिए।

कन्हैया कुमार से दीपिका पादुकोण के जेएनयू में पहुंचने के बारे में पूछने पर उन्होंने अनभिज्ञता जताई। उन्होंने कहा कि ‘अच्छा आई थीं? हम नहीं देख पाए, मैं उनसे बात नहीं कर सका। मैं उनसे नहीं मिला।’ हालांकि सोशल मीडिया पर उनकी तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें वह दीपिका के ठीक सामने नजर आ रहे हैं।

जेएनयूटीए सचिव सुरजीत मजूमदार ने कहा कि दीपिका छात्रों के प्रति एकजुटता दिखाने यहां आईं थीं. राष्ट्रीय राजधानी में अपनी आगामी फिल्म ‘छपाक’ का प्रमोशन करने आईं 34 वर्षीय अभिनेत्री ने सोमवार को कहा था कि यह जरूरी है कि लोग बदलाव लाने के लिए अपने विचार व्यक्त करें।

दीपिका ने सोमवार को रात में ‘एनडीटीवी इंडिया’ से कहा, ‘‘यह देखकर मुझे गर्व होता है कि हम अपनी बात कहने से डरे नहीं हैं… चाहे हमारी सोच कुछ भी हो, लेकिन मेरे ख्याल से हम देश और इसके भविष्य के बारे में सोच रहे हैं, ये अच्छी बात है.”

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन