कादर खान के निधन की खबर के साथ ही बॉलीवुड स्टार के एक के बाद एक ट्वीट आने लगे है। जिसमे वे बड़ा दुख जता रहे थे। किसी को भारी सदमा लगा था। तो किसी ने बताया था कि उनके सर से एक गुरु का, एक बाप का साया उठा गया है। लेकिन ये सब कुछ मगरमच्छ के आंसू से ज्यादा नहीं थे।

कादर खान के अंतिम संस्कार के बाद अब उनके बेटे सरफराज ने कादर खान को लेकर बड़ा खुलासा किया है । उन्होंने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, ‘बॉलीवुड में कई लोग थे जो मेरे पिता के बहुत करीब थे । लेकिन मेरे पिता जिसे सबसे ज्यादा प्यार करते थे वो थे बच्चन साहब । मैं अपने पिता से पूछा करता था कि इंडस्ट्री में ऐसा कौन है जिसे आप सबसे ज्यादा याद करते हैं और वो बच्चन साहब का नाम लेते थे ।’

Loading...

‘मुझे पता है ये प्यार दोनों तरफ से था । मैं चाहता हूं कि बच्चन साहब जानें कि मेरे पिता उन्हें आखिरी दम तक याद करते रहे ।’ सरफराज आगे कहते हैं, ‘जब मेरे पिता ने दुनिया को अलविदा कहा तो उनके चेहरे पर एक मुस्कान थी । मुझे वो मुस्कान दुनिया में सबसे ज्यादा प्यारी थी ।’

कादर खान के बेटे सरफराज इंडस्ट्री की बेरुखी से बेहद आहत हैं। गोविंदा के बारे में पूछा गया तो सरफराज ने कहा कि ‘कृपया गोविंदा से पूछिए कि उन्होंने मेरे पिता के बारे में कितनी बार पूछा था। क्या उन्होंने पिता के निधन के बाद एक बार भी हमें फोन किया? फिल्म इंडस्ट्री में लोग बोलते कुछ और हैं और करते कुछ और हैं। आज जो टॉप एक्टर्स हैं वो पुराने एक्टर्स के साथ तस्वीरों में तो देखे जाते हैं लेकिन ये प्यार केवल तस्वीरों तक ही है। इससे ज्यादा कुछ नहीं। मेरे पिता भाग्यशाली थे कि उनके तीनों बेटों ने उनका ध्यान रखा।’

बता दें कि मशहूर अभिनेता और संवाद लेखक कादर खान का निध’न सोमवार 31 दिसंबर को कनाडा के अस्पताल में हो गया था । इसके बाद कनाडा में ही उनके पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार हुआ । परिवारवालों ने कादर खान के फैंस और बॉलीवुड सेलेब्रिटीज के लिए गुरुवार को मुंबई में शोक सभा का आयोजन किया ।

खबर थी कि इस प्रेयर मीट में कादर खान के साथ काम कर चुके सभी दिग्गज अभिनेता और निर्देशक पहुंचेंगे लेकिन दुख की बात है कि ऐसा कुछ नहीं हुआ । शोक सभा में हिंदी सिनेमा के दो बड़े निर्माता-निर्देशकों लॉरेंस डिसूजा और मेहुल कुमार को छोड़कर कोई नामी सितारा नहीं पहुंचा 

कादर खान को लेकर ट्विटर पर बड़ी-बड़ी बातें लिखने वाले अमिताभ बच्चन यहां नहीं आए। कादर खान को अपने पिता का दर्जा देने वाले गोविंदा भी नहीं पहुंचे और तो और कादर खान के साथ 100 से ज्यादा फिल्मों में काम करने वाले शक्ति कपूर भी उन्हें श्रद्धांजलि देने नहीं आए ।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें