cry

cry

बॉलीवुड सुपरस्‍टार शाहरुख खान के को सोमवार को दावोस में चल रहे वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम में क्रिस्‍टल अवॉर्ड सम्‍मान‍ित किया गया है. यह सम्‍मान उन्‍हें मानव अधिकारों के मुद्दों के बारे में जागरुकता बढ़ाने और एसिड अटैक पीड़ितों के लिए काम करने के कारण मिला है.

इस बारें में शाहरुख ने कहा है कि वह एल्टन जॉन और केट ब्लैंचेट के साथ 24 वां क्रिस्टल अवार्ड पाकर सम्मानित महसूस कर रहे हैं. उन्होंने कहा, “यह अवार्ड मेरे लिए नहीं हैं यह अवार्ड उन औरतों के लिए है जिनके लिए हम काम कर रहे हैं.मेरे हिसाब से बहुत ही कम काम कर रहे है. हमारी कोशिश है कि हम एसिड अटैक पीड़ितों की पुर्नवास में मदद कर सकें.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आगे कहा, ”जब से मैंने इन औरतों के साथ ​काम करना शुरू किया तब से मुझे साफ है कि उन्हें किसी भी प्रकार की चैरिटी नहीं सालिडैरीटी चाहिए. मैं इन औरतों के साहस का कायल हूं. मुझे उनके इस साहस से साहस मिलता है. मजबूती मिलती है. इसलिए मैं यह अवार्ड इनके साहस को समर्पित करता हूं.”

ध्यान रहे  शाहरुख एसिड अटैक पीड़‍ितों के लिए काम करने वाले एक एनजीओ मीर फाउंडेशन के फाउंडर हैं. यह एनजीओ पीड़‍ितों को चिकित्‍सा सुविधा, कानूनी मदद, व्‍यवसायिक प्रश‍िक्षण और पुनर्वास में मदद करता है. वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम की ओर से क्रिस्‍टल अवॉर्ड उन कलाकारों को दिया जाता है, जो समाज में बदलाव लाने के लिए काम करते हैं.