मुंबई: अभिनेत्री करीना कपूर खान ने शुक्रवार को बॉलीवुड की छवि को खराब करने का आरोप लगाया। उन्होने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद जिस प्रकार से फिल्म इंडस्ट्री की छवि को खराब किया जा रहा है उससे उन्हें बहुत दुख पहुंचा है।

पत्रकार बरखा दत्त द्वारा डिजिटल माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उन्होने कहा, फिल्म उद्योग के प्रति जिस प्रकार की संवेदनहीनता प्रदर्शित की जा रही है वह परेशान करने वाली है। यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें लगता है कि सिनेमा जगत को और अधिक मुखर और निडर होने की जरूरत है।

इस पर करीना ने कहा कि आप यह माने या न माने, उद्योग को निशाना बनाया जा रहा है। आप कुछ कहेंगे तो आपकी आलोचना की जाएगी, नहीं कहेंगे फिर भी आपको निशाना बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी मुद्दे पर अपनी राय रखने पर अभिनेताओं को ट्रोल किया जा रहा था इस कारण से हमने चुप रहना ठीक समझा।

करीना कपूर ने कहा कि यह विडंबना है कि फिल्म उद्योग जो केवल मनोरंजन देना चाहता है, उसकी छवि ऐसी बनाई जा रही है जैसे यह रहने लायक जगह न हो।करीना ने कहा, “अगर अभिनेता नहीं बोलना चाहते तो समझ में आता है क्योंकि देखिये किस प्रकार से अकारण ट्रोल किया जा रहा है। वह असल में मनोरंजन उद्योग में घृणा और नकारात्मकता फैला रहे हैं। हम यहां अपने प्रशंसकों का मनोरंजन करने के लिए हैं। हम यहां घृणा और नकारात्मकता फैलाने के लिए नहीं हैं।”

इससे पहले ETimes को दिए एक इंटरव्यू में महिलाओं के ‘मासिक धर्म’ के बारे में खुलकर बोला। करीना ने कहा कि महिलाओं का शरीर अलग होता है, दुनिया को हर महिला को उन दिनों के दर्द से गुजरना पड़ता है, किसी-किसी को तो इस दौरान काफी पेट दर्द होता है तो कई शरीर के दूसरे अंगों के दर्द से पीड़ित हो जाता है, ऐसे में महिलाओं के साथ काम करने वाले लोगों और ऑफिस को इस बात को गंभीरता से लेना चाहिए।