amitt

लखनऊ : आज से करीब दस साल पहले बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन ने बाराबंकी जिले के के दौलतपुर गांव में अपनी बहु ऐश्वर्या राय बच्चन के नाम पर डिग्री कॉलेज बनाने का वादा किया था. लेकिन उसे आज तक पूरा नहीं किया.

दरअसल, अमिताभ बच्चन अपने खास दोस्त अमर सिंह के जन्मदिन के दिन 2008 में पत्नी जया बच्चन, बेटे अभिषेक, बहू ऐश्वर्या के साथ दौलतपुर गांव पहुंचे थे. इस दौरान अमिताभ ने दस बीघे जमीन लेकर एक डिग्री कॉलेज की नींव रखी थी. लेकिन दस साल बीतने के बाद भी आज वह जमीन वैसी ही पड़ी है.

दस साल के लंबे इंतजार के बाद अब ग्रामीणों ने खुद ही इस जमीन के बिलकुल करीब चंदा एकत्रित कर कॉलेज बना लिया है. कॉलेज का निर्माण काम लगभग पूरा हो चुका है और जुलाई से इसमें पढ़ाई भी शुरू हो जाएगी. इस कॉलेज को दौलतपुर डिग्री कॉलेज नाम दिया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

amitabh bachhan 800

कॉलेज के लिए डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध यूनिवर्सिटी फैजाबाद से इसकी मान्यता भी ले ली है. इस कॉलेज के निर्माण का पूरा श्रेय गांव के ही एक शिक्षक सत्वान शुक्ला को जाता है. जुलाई से यहां बीए और बीएससी की पढ़ाई भी शुरू होने जा रही है.

हालांकि दौलतपुर गांव के प्रधान और अमिताभ बच्चन सेवा संस्थान के सचिव अमित सिंह का कहना है कि अमिताभ बच्चन ने निष्ठा फाउंडेशन को कॉलेज बनाने के लिए दिया था, जिसकी अध्यक्ष जया बच्चन हैं. जब निष्ठा फाउंडेशन ने कॉलेज को नहीं बनाया तो जया बच्चन ने इसको बनाने की जिम्मेदारी अमिताभ बच्चन सेवा संस्थान को दिलवाई.

अमित सिंह ने बताया कि बिग बी को शायद ये लगा कि गांव के लोग उनका सपोर्ट नहीं कर रहे. शुरुआत में गांव के लोग अमिताभ बच्चन के खिलाफ थे और मुकदमेबाजी में फंसा दिया. हालांकि अमित सिंह को अभी भी यह विश्वास है कि अमिताभ यहां कॉलेज बनवाएंगे और जो वादा उन्होंने दौलतपुर की जनता से किया था उसे पूरा करेंगे.

Loading...