Thursday, January 27, 2022

वो फ़िल्मी डायलॉग जिनसे हमने पाकिस्तान को कई बार धूल चटाई

- Advertisement -

उरी में हुए आतंकवादी हमले के बाद देश में ऐसे हालात पैदा हो गया है जैसे किसी युद्ध के समय देश का माहौल होता है. चारों तरफ मोदी सरकार से पाकिस्तान को सबक सीखाने की बात की जा रही है. सोशल मीडिया हो या मेन स्ट्रीम मीडिया हर जगह भारतीय सेना और शहादत की चर्चाएँ. ऐसे में युद्ध करना कितना सही होगा कितना गलत इसका फैसला देश के ज़िम्मेदारान लोग लेंगे लेकिन आइये हम आपको लेकर चलते है फ़िल्मी दुनिया में जहाँ काफी दफ़ा पाकिस्तान को पटखनी दे चुके है.

नीचे वो डायलॉग दिए जा रहे है जो देश के लोगो में जोश भर देते है 

हम तो किसी दूसरे की धरती पर नजर भी नहीं डालते, लेकिन इतने नालायक बच्चे भी नहीं हैं कि कोई हमारी धरती मां पर नजर डाले और हम चुपचाप देखते रहें…। फिल्म बॉर्डर

तुम दूध मांगोगे, तो खीर देंगे, तुम कश्मीर मांगोगे, तो चीर देंगे…। – फिल्म: मां तुझे सलाम

शायद तुम नहीं जानते, ये धरती शेर भी पैदा करती है…। – फिल्म: बॉर्डर

वो कहते हैं सुबह का नाश्ता जैसलमेर में करेंगे, दोपहर का खाना जोधपुर में करेंगे और रात का खाना दिल्ली में खाएंगे…, लेकिन आज हम उनका नाश्ता करेंगे। गुरु महराज ने कहा है- एक खालसा सवा लाख के बराबर होता है…आज उनकी बात सचकर दिखाने का वक्त आ गया है। – फिल्म: बॉर्डर

बरसात से बचने की हैसियत नहीं और गोलीबारी की बात करते हो…? – फिल्म: गदर

असरफ अली, तुम्हारा पाकिस्तान जिंदाबाद है, इसमें हमें कोई एतराज नहीं, लेकिन हमारा हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा…हिंदुस्तान जिंदाबाद। – फिल्म: गदर

बॉर्डर पे मरने से ज्यादा बड़ा नशा कोई नहीं है…। – फिल्म: शौर्य

 हमारी सिर्फ एक पहचान है कि हम कुवैती नहीं, हिंदुस्तानी हैं। साथ हैं, तो कुछ है वरना नथिंग…। – फिल्म: एयरलिफ्ट
- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles