फिल्म फेस्टिवल में मॉब लिंचिंग पर बनी फिल्म को मिला बेस्ट फिल्म का अवाॅर्ड

7:39 pm Published by:-Hindi News

आगरा. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में आयोजित फिल्मसाज अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में मॉब लिंचिंग विषय पर बनी शॉर्ट फिल्म ‘खत’ को बेस्ट फिल्म का अवाॅर्ड मिला है। यह फिल्म कैफे शीरोज हैंगआउट के मीडिया ऑफिसर और एमएयू के जनसंपर्क विभाग के छात्र केतन दीक्षित ने बनाई है।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय हर साल अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल फिल्मसाज का आयोजन करता है। इस साल 24 फरवरी से 27 फरवरी तक यह आयोजन किया गया। इसमें देश-दुनिया से 40 फिल्में रखी गईं। फिल्म में मॉब लिंचिंग का शिकार लोगों के परिवार के दर्द को दिखाया गया है।

फिल्म के लेखक और निर्देशक केतन दीक्षित ने बताया कि फिल्म बाबा नूर के किरदार के इर्द-गिर्द घूमती है। बाबा नूर का बेटा यूसूफ मॉब लिचिंग में मारा जाता है। बाबा सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाते और वह अपनी याद्दाश्त खो बैठते हैं और अपने बेटे के खत के इंतजार में रोज डाकखाना जाते हैं।

mob

केतन ने बताया कि उनकी यह फिल्म मशहूर लेखक अहमद नदीम कासमी का आधुनिक वर्जन है। यह फिल्म भीड़ के हाथों मारे गए लोगों के परिवार को समर्पित है। खत को फिल्मसाज में इतना पसंद किया गया कि दर्शको की मांग पर उसे तीन बार स्क्रीन किया गया। केतन दीक्षित ने बताया कि फिल्म को देश के अन्य फिल्म फेस्टिवल में भी भेजा जाएगा।

केतन दीक्षित के द्वारा लिखी गई इस फिल्म के निर्देशन में  उनका साथ बदरुज्जमा सिद्दीकी और इकरा खान ने दिया है। फिल्म की एडिटिंग बॉलीवुड एडिटर अमित विजय कौशल ने की है। गौरतलब है कि, केतन दीक्षित एसिड अटैक पीड़िताओं द्वारा चलाए जाने वाले कैफे शीरोज हैंगआउट के मीडिया ऑफिसर हैं। उन्होंने बताया कि जल्द ही फिल्म की स्क्रीनिंग आगरा में भी की जाएगी।

Loading...

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें