उड़ता पंजाब के बाद अब सेंसर बोर्ड की नज़र नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म हरामखोर पर हैं. सूत्रों से खबर मिली है कि सेंसर बोर्ड को इस फिल्म कि थीम से परेशानी हैं. यदि आप नवजदुद्दीन सिद्दीकी के फैन है और अनुराग कश्यप कि फिल्म उड़ता पंजाब पर कोर्ट के फैसले से खुश है तो आपको एक बार फिर दुआएं करनी होगी कि फिल्म को सर्टिफाइड कर दिया जाये. फिल्म में नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के साथ श्वेता त्रिपाठी है.

आपको बता दे फिल्म हरामखोर पिछले साल मुंबई में आयोजित 17वे जियो ममी मुंबई फेस्टिवल में इंडिया गोल्ड सेक्शन में सिल्वर गेट वे अवार्ड रनर उप हैं.श्लोक शर्मा के डायरेक्शन में बानी इस फिल्म के प्लाट पर सेंसर बोर्ड को आपत्ति हैं.
इस फिल्म कि कहानी एक शिक्षक और एक विद्यार्थी की हैं. जिसमे श्वेता त्रिपाठी 14 साल की विद्यार्थी का रोले प्ले कर रही हैं और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी अध्यापक का रोले करते नज़र आएंगे. फिल्म की कहानी अध्यापक और विद्यार्थी के बीच अवैध सम्बन्ध के आस पास घूमती हैं.

सेंसर बोर्ड का कहना है की फिल्म का विषय बहुत ही आपत्तिजनक है जिसके कारण एक हफ्ता पहले स्क्रीनिंग करके फिल्म पर रोक लगा दी हैं. फिल्म के प्रोडूसर गुनीत मोंगा ने हफिंगटन पोस्ट से इंटरव्यू के दौरान बतया कि फिल्म के विषय से अप्पति है, इसलिए उन्होंने फिल्म पर रोक लगा दी है, लेकिन यह फिल्म इतने बड़े बैनर कि नहीं, हम कोर्ट में जाकर केस नहीं लड़ सकते हैं.

Web-Title:Ban on haramkhor

Key-Words: Ban, Haramkhor, udta panjaab, nawazuddin siddiqui, sweta tripathi

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano