भारतीय टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन (एचसीए) के अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि एसोसिएशन में भ्रष्टाचार चल रहा है. चयनकर्ता खिलाड़ी को चुनने के लिए पांच लाख रुपए की मांग कर रहे है.

अजहर ने शनिवार को कहा, ‘बीसीसीआई के पत्र के अनुसार मैं आईसीसी/बीसीसीआई या किसी भी राज्य संघ में किसी भी पद पर आसीन होने का हकदार हूं. साथ ही तत्कालीन एचसीए सचिव टी. शेषनारायण द्वारा जारी किया गया पहचान पत्र इस बात का सबूत है कि एचसीए अध्यक्ष मेरे केस में लगातार झूठ बोल रहे हैं’

पूर्व कप्तान ने कहा, ‘मैं तत्कालीन एड होक पैनल के चैयरमैन पी.सी. जैन और अन्य लोग जिन्होंने मुझे एचसीए चुनावों में अध्यक्ष पद पर खड़े होने से रोका, उन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं. मेरे साथ इस तरह का व्यवहार करना आपराधिक कदम है’.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अजहरुद्दीन ने कहा “एचसीए जो कर रहा है वह बिलकुल गैरकानूनी है. मुझे उम्मीद है कि बीसीसीआई मेरे पत्र का जरूर जवाब देगा. मुझे जहां तक पता है सीओए चीफ विनोद राय देश से बाहर हैं. जब वे वापस आएंगे मैं निश्चित ही उनसे मुलाकात करुंगा.”

आपको बता दें कि एचसीए अध्यक्ष ने लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने के लिए बैठक आयोजित की थी. लेकिन अजहरुद्दीन को इस बैठक में हिस्सा लेने से रोक दिया गया.

Loading...