Sunday, October 17, 2021

 

 

 

अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह से किया सवाल – क्या जवानों पर पत्थर फेंकने से भी ज्यादा आजादी चाहिए?

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह द्वारा यूपी के बुलंदशहर में कथित गौरक्षा के नाम पर हिंसा और पुलिस अधिकारी सुबोध कुमार की हत्या के मामले में सवाल उठाने पर अभिनेता और भाजपा समर्थक अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह पर निशाना साधा है। उन्होंने शाह से पूछा कि इस देश में एक आदमी सेना को गाली दे सकती है, और कितनी ज्यादा आजादी चाहिए।

अनुपम खेर ने मीडिया से कहा, ‘देश में बहुत आजादी है, यहां आप सेना को गाली दे सकते हैं और सेना पर पत्थर फेंक सकते हैं। आपको एक देश में और कितनी ज्यादा आजादी चाहिए। उन्होंने कहा कि वह ऐसा महसूस करते है तो इसका मतलब यह नहीं है कि यह सच्चाई है।’

उन्होंने कहा कि नसीरुद्दीन शाह ने एक फिल्म की थी, जिसका नाम था अल्बर्ट पिंटू को गुस्सा क्यों आता है। वह दिल्ली के नेशनल स्कूल आफ ड्रामा में मेरे सीनियर रहे हैं। देश में हर एक को पूरी आजादी है कुछ भी कहने-बोलने की। भारत में तो लोग सेना से लेकर एयर चीफ को भी गाली दे सकते हैं। आप सैनिकों पर भी पथराव कर सकते हैं। भला इससे ज्यादा आजादी क्या चाहिए और किसी देश में इससे ज्यादा आजादी नहीं है।

बता दें कि नसीरुद्दीन शाह ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था, ‘‘देश में कई जगह पुलिस अफसर की हत्या से ज्यादा महत्व गाय की हत्या को दिया जा रहा है। यहां जहर फैल चुका है। कानून हाथ में लेने के लिए लोगों को खुली छूट मिली हुई है। ये हालात जल्द सुधरते नजर नहीं आ रहे।’’

नसीरुद्दीन शाह ने कहा था, ‘‘मैंने मजहबी तालीम हासिल की है, लेकिन मेरी पत्नी रत्ना लिबरल परिवार से आती हैं। मैंने अपने बच्चों को भी मजहबी तालीम नहीं दी। मेरा यह मानना है कि मजहब से अच्छाई और बुराई का कुछ लेना-देना नहीं होता। हालांकि, मुझे अपने बच्चों के बारे में फिक्र होती है। अगर किसी दिन भीड़ ने उन्हें घेर लिया और पूछा कि तुम हिंदू हो या मुसलमान? …तो उनके पास कोई जवाब नहीं होगा। ऐसे में मुझे अपने बच्चों की फिक्र होती है। इन बातों से मुझे डर नहीं लगता, लेकिन गुस्सा जरूर आता है।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles