बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता अक्षय कुमार हाल ही में संपन्न हुए महाराष्ट्र के निकाय चुनाव में मतदान नही कर पाए, दरअसल उनसे उनका वोटिंग का अधिकार छीन गया हैं.

दरअसल, अक्षय कुमार अब हिंदुस्तानी नागरिक नहीं हैं, उन्होंने भारत की नागरिकता त्याग दी हैं. अब वे एक कैनेडियन नागरिक हैं. काफी समय पहले कैनेडा की सरकार ने उनको कैनेडा नागरिकता ऑफर की थी तो उन्होंने उसे स्वीकार कर लिया था. जिसके बाद उनसे भारत की नागरिकता छिन्न गई, साथ ही वोटिंग का अधिकार भी छीन गया.

भारत के नागरिकता अधिनियम के अनुसार, किसी भी भारतीय नागरिक को 2 देशों की नागरिकता रखने की इजाज़त नहीं देता है, ऐसे में अब अक्षय कुमार भारतीय नहीं हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

भारतीय नागरिकता के नियम:

भारतीय नागरिकता अधिनियम 1955 की धारा 9 (1) के अनुसार भारत का कोई भी नागरिक जो पंजीकरण या समीकरण के द्वारा किसी और देश की नागरिकता प्राप्त कर लेता है, उसकी भारतीय नागरिकता रद्द हो जाएगी. इसमें यह भी प्रावधान है कि भारत का कोई भी नागरिक जो स्वेच्छा से किसी दूसरे देश की नागरिकता प्राप्त कर लेता है, उसकी भारतीय नागरिकता रद्द हो जायेगी.

नागरिकता नियम 1956 के अनुसार किसी और देश का पासपोर्ट प्राप्त करना भी उस देश की राष्ट्रीयता का स्वैच्छिक अधिग्रहण है. नागरिकता के नियमों की अनुसूची III के नियम 3 के अनुसार, “यह तथ्य कि भारत के एक नागरिक ने किसी दिनांक को किसी अन्य देश की सरकार से पासपोर्ट प्राप्त किया है, इस बात का निर्णायक प्रमाण होगा कि उसने उस देश की नागरिकता को स्वैच्छिक रूप से प्राप्त किया है.”

Loading...