बॉलीवुड अभिनेता एजाज खान ने तीन तलाक पर केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लोकसभा में पेश किये विधेयक पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि इस्लाम में तलाक देना बुरा है. ऐसे में तलाक को मोदी और योगी के डर से नहीं बल्कि अल्लाह के डर से न दी जाये.

उन्होंने कहा, जब तीन तलाक बोलकर तलाक देने वालों को तीन साल की सजा दी जा रही है तो फिर सात फेरे लेकर पत्नि को तलाक देने वाले के लिये सात साल सजा का प्रावधान क्यों नहीं किया जा रहा.

अभिनेता ने कहा, टलाक तो हर एक समाज में हो रहा हैं फिर मुसलमानों को ही निशाना क्यों बनाया जा रहा है. एजाज खान ने कहा कि सिर्फ मुसलमानों को टार्गेट किया जा रहा है.

एजाज खान ने मुसलमानों से अपील करते हुए कहा की मुसलमानों को गलत काम करने से बचना होगा. उन्होंने कहा कि जिसकी बहन या बेटी को तलाक होता है यकीनन उसे बहुत दुःख होता है, इस दर्द को सिर्फ वही समझ सकता है जिसके साथ यह हुआ हो.

Triple Talaaq pe Agar 3 Saal ki Saza Hai To Phir 7 Phiron aur 7 Janmon Wale Talaaq Pe 7 Saal ki Saza Honi Chahiye.

Ajaz khan ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶುಕ್ರವಾರ, ಡಿಸೆಂಬರ್ 29, 2017

उन्होंने कहा कि किसी से  भी शादी करो लेकिन उसे तलाक मत दो, उन्होंने कहा कि तलाक एक बुराई है, इससे बचने की कोशिश करो

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano