नई दिल्ली: देशभर के कई हिस्सों में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिज़न्स  (एनआरसी) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के बीच एक्टर अजय देवगन ने प्रतिक्रिया दी है।

अजय देवगन ने क्विंट से बात करते हुए कहा, “ऐसी कई चीज़ें हैं, जिनके बारे में हम बात नहीं कर सकते। अगर हम कुछ कहेंगे, तो इससे कोई और नाराज़ हो सकता है।  अगर कल को सैफ कुछ कह देते हैं, तो लोग बाहर निकल जाएंगे और विरोध करने लगेंगे।”

अजय ने अपनी फिल्म का हवाला देते हुए कहा, “वो तानाजी नाम की फिल्म को बैन कर देंगे। इन सब को कौन झेलेगा? फिल्म का प्रोड्यूसर, वो मैं हूं। इसलिए इनको (सैफ) कोई हक नहीं कि मुझे परेशान करें। इसमें बहुत सारी जिम्मेदारियां हैं।”

अजय देवगन ने ये भी कहा कि ये चीज़ आमिर खान और संजय लीला भंसाली के साथ भी हो चुकी है. अजय देवगन ने कहा कि जब तक सही क्या है समझ नहीं आ जाता तब तक हमारा चुप रहना ही अच्छा है।

अजय ने कहा कि एक लोकतंत्र में लोगों को प्रोटेस्ट करने का अधिकार है और सरकार को भी अपनी बात पर कायम रहने का हक है। दोनों पक्षों को मिल-बांटकर ये समस्या सुलझानी चाहिए क्योंकि हिंसा से किसी का भी फायदा होने वाला नहीं है।

आपको बता दें कि इससे पहले ही अजय देवगन की फिल्म ‘तानाजी’ की कहानी को लेकर विवाद चल रहा है। फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद फिल्म की कहानी को लेकर अखिल भारतीय क्षत्रिय कोली राजपूत संघ बुरी तरह नाराज हो गया। संघ का आरोप है कि तानाजी मालुसरे के असली वंश को पेश नहीं किया है।

इस मामले में अखिल भारतीय क्षत्रिय कोली राजपूत संघ ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की। इस याचिका के मुताबिक फिल्म मेकर्स व्यावसायिक लाभ के लिए तानाजी को मराठा समुदाय का और उनकी असली वंशावली को नहीं दिखा रहे हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन