फिल्म बॉबी से करियर की शुरुआत करने वाले ऋषि कपूर मंगलवार शाम अपनी आत्मकथा ‘खुल्लम खुल्ला- ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ के दिल्ली के होटल ताज में लोकार्पण के दौरान चौकाने वाला खुलासा किया हैं.

मुंबईं बम धमाकों के बाद अंडरवर्ल्ड डॉनन दाऊद इब्राहीम से मुलाक़ात की बात कबूल चुके ऋषि कपूर ने कहा कि बॉबी फ़िल्म के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड खरीदा था. वो भी 30 हज़ार रूपये में. इतना ही नहीं, ऋषि कपूर बताते हैं कि अमिताभ बच्चन इसलिए उनसे काफी समय तक नाराज़ थे क्योंकि उन्हें लगा वो ज़ंजीर के लिए जीतेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ऋषि कपूर ने कहा, ‘एक शख्स मेरे पास आया और मुझसे बोला कि तुम इतने पैसे दे दो तो मैं तुम्हें अवॉर्ड दिला दूंगा. मैं तैयार हो गया… लेकिन ये एक धोखे का खेल भी हो सकता था. मैं ये नहीं मान रहा कि वो पैसा किसी के हाथ में गया और अवॉर्ड फिक्स हुआ. हमें ये सोचना चाहिए कि वो फिक्स नहीं था. लेकिन मैंने पैसे दिए थे और मुझे अवॉर्ड मिला. इसलिए मैं यही सोचता हूं कि मुझे अवॉर्ड मिला क्योंकि मैंने पैसे दिए थे.’

इस दौरान उन्होंने अमिताभ बच्चन से संघर्ष को भी स्वीकारा उन्होंने कहा कि  ‘मैं रोमांटिक फिल्म के साथ आया था. उसी साल जंजीर के जरिए एंग्री यंग मैन के तौर पर अमिताभ छा गए. उन्होंने सारी तस्वीर बदल कर रख दी. उस वक्त हर हीरो एक्शन हीरो हो गया था. ऐसा लगता था कि मैं पानी में फेंक दिया गया हूं और मुझे अपनी जान बचानी थी नहीं तो मैं मर जाता। कोई संगीत वाली फिल्में नहीं देखना चाहता था. सब एक्शन हीरो को ही देखना चाहते थे.  उसके बाद से मैं पूरी जिंदगी संघर्ष करता रहा.’

Loading...