शराब पीने पर होना पड़ेगा रातभर पिंजरे में बंद, देना होगा 2500 रुपये जुर्माना

शराब पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है जानने के बाद भी अनजान बनकर लोग इसका सेवन करते हैं। जरूरत से ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन करने पर अपनी जान से भी हाथ धो बैठते हैं पीछे छोड़ जाते हैं अपने परिवार को लाचार और बेसहारा। वैसे तो देश में शराब खाने से ज्यादा बिकती है कोई व्यक्ति दिन में 1000 रुपए कमाता है तो ₹800 की शराब पी ही जाता है।

कायदे से तो शराब को बैन कर देना चाहिए। गुजरात के अहमदाबाद में 1 गांव मोतीपुरा है। इस गांव में अगर कोई शराब पीता है तो उसे एक पिजड़े में रात भर के लिए कैद कर दिया जाता है और उस व्यक्ति पर जुर्माना भी लगाया जाता है।

इस सजा से बचने के लिए कई लोगों ने शराब का सेवन करना बंद कर दिया है। सुखी जीवन व्यतीत कर रहे हैं। इस कमाल के नुस्खे या सज़ा को आसपास के और भी गांव अपना रहे हैं जिससे कि उनके गांव में किसी भी व्यक्ति की शराब के कारण मौत ना हो।

मोतीपुरा गांव मैं अब तक कम से कम 100 से ज्यादा महिलाएं बेवा हो चुकी हैं। उनके बेवा होने की वजह केवल उनके मृत पति द्वारा शराब का सेवन है। मोतीपुरा गांव में कोई और औरत बेवाना हो इसीलिए इस कमाल की सजा को लाया गया है जिसमें यदि कोई शराब पिएगा तो उसे पूरी रात एक पिंजरे में कैद कर दिया जाएगा और 1200 रुपए या उससे अधिक जुर्माना लिया जाएगा।

विज्ञापन