करवाचौथ पर प्रेमी के साथ मिल कर की पति की ह’त्या और रात भर ला’श के ऊपर सोयी

मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में एक बेवफा पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही पति को मौ’त के घाट उतार दिया। इस वार’दात को सुनकर आपके होश उड़ जाएगए।

ग्वालियर शहर एक पत्नी ने अपने प्रेमी से वादा किया था कि इस बार वह अपने पति के लिए नहीं बल्कि प्रेमी के लिए करवा चौथ का व्रत रखेगी। इस वादे को पूरा करने के लिए पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर ह’त्या कर दी। ह’त्या के बाद पति की ला’श के ऊपर खाट बिछाकर बड़े मजे से सोती (Basanti Slept With Husband Body) भी रही। यह दिल दहला देने वाली घटना ग्वालियर के हरीसिंह का पुरा गांव की है। 6 सितंबर को हरसी बड़ी नहर में पुलिस को एक ला’श मिली थी। मृत’क की शिनाख्त हुई तो पता चला परीक्षित रावत नाम है जोकि हरीसिंह का रहने वाला है।

ला’श के शरीर पर चोट के निशान थे, जिसे देखकर पुलिस पहली ही नजर में समझ गई कि मामला ह’त्या का है। पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू की। इसके बाद जो कुछ सामने निकल कर आया, वह काफी हैरान कर देने वाला था। जांच करने के दौरान पुलिस को पता चला कि मृत’क परीक्षित रावत की पत्नी जिसका नाम बसंती है उसका गांव के मनीष रावत से प्रेम संबंध है। यह जानकारी मिलते ही पुलिस का माथा ठनका और पुलिस ने परीक्षित की पत्नी और मनीष को हिरा’सत में लेकर पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हो गया।

मृत’क परीक्षित की पत्नी ने बताया कि उसका पति नशे का आदी था, रोज नशे में धुत होकर आता था और बसंती के साथ झग’ड़ा करते हुए मार’पीट करता था। बसंती इस बात से काफी तंग आ चुकी थी। बसंती के प्रेम संबंध मनीष से थे। बसंती ने मनीष को बताया कि वह इस बार का करवा चौथ का व्रत अपने पति के लिए नहीं बल्कि अपने प्रेमी मनीष के लिए रखेगी। इसी वादे को पूरा करने के लिए बसंती ने अपने प्रेमी मनीष के साथ मिलकर अपनी पति की ह’त्या की पूरी योजना बना ली और 4 सितंबर को परीक्षित रावत रोज की तरह नशे में धुत होकर घर पहुंचा और पत्नी से झगड़ा करने के बाद सो गया तो बसंती ने अपने प्रेमी मनीष को बुला लिया।

मनीष ने बसंती के साथ मिलकर परीक्षित की ग’ला दबाकर ह’त्या कर दी। इसके बाद मनीष मौके से चला गया। बेरह’म पत्नी ने अपने पति की ला’श के ऊपर ही खाट बिछाई और रात भर मजे से सोती रही। दूसरा दिन भी गुजर का 5 तारीख की रात को मनीष फिर से बसंती के घर पहुंचा और ला’श को ठिकाने लगाने की कोशिश की लेकिन बसंती इस काम में मनीष का पूरा सहयोग नहीं कर सकी। इसके बाद मनीष ने अपने एक दोस्त रविंद्र को भी बुला लिया। रविंद्र के साथ मिलकर मनीष ने परीक्षित की लाश को मोटरसाइकिल पर रखकर 4 किलोमीटर दूर बड़ी नहर में फेंक दिया जिसे पुलिस ने 6 सितंबर को बरामद किया था। आ’रोपी पत्नी उसका प्रेमी और प्रेमी का दोस्त तीनो पुलिस की हिरा’सत में है।

विज्ञापन