Monday, May 17, 2021

कानून जानें: क्या फैमिली पेंशन पर दूसरी पत्नी को है अधिकार ?

- Advertisement -

पारिवारिक पेंशन किसी मालिक द्वारा ऐसे व्यक्ति को भुगतान की गई राशि होती है जो कर्मचारी की मृत्यु के बाद कर्मचारी के परिवार का सदस्य होता है. पेंशन और पारिवारिक पेंशन दो अलग-अलग शब्द हैं जिसका अर्थ है दो अलग-अलग चीजें. पेंशन को नियोक्ता द्वारा कर्मचारी के जीवनकाल के दौरान भुगतान किया जाता है, जबकि फैमिली  पेंशन नियोक्ता द्वारा मृत कर्मचारी के परिवार के सदस्य को भुगतान की गई राशि होती है.

पारिवारिक पेंशन और भारतीय समाज 

भारतीय समाज के साथ-साथ भारतीय कानूनी व्यवस्था ने भी मोनोगैमी(एक ही बार विवाह करने की प्रथा, एकपत्नीत्व/एकपतित्व) को कानूनी नियम के रूप में माना है और पहली शादी की निरंतरता के दौरान दूसरी शादी को कानून में शून्य माना जाता है. इसलिए, कानून के नियम के अनुसार,दूसरी पत्नी को कानूनी रूप से विवाहित पत्नी की स्थिति नहीं दी जाती है.

इस प्रकार, इस दृष्टिकोण का पालन करके उसे मृतक की सच्ची विधवा के रूप में भी नहीं माना जाता है. दूसरे शब्दों में हम यह कह सकते हैं की एक महिला को उसके  पति की विधवा के रूप में तभी माना जाएगा जब दोनों के बीच विवाह वैध होगा.”

दूसरी पत्नी को कानून में असली विधवा की स्थिति का अधिकार नहीं है. ऐसी स्थितियों के तहत कानून दूसरी पत्नी को पारिवारिक पेंशन पर दावा करने का अधिकार नहीं देता है और यह विभिन्न न्यायालयों द्वारा विभिन्न निर्णयों में आयोजित किया गया है.

T.Stella v. Metropolitan Transport Corporation Limited में :

माननीय न्यायालय ने कहा है कि हिंदू कानून के अनुसार दूसरी पत्नी के पास कानूनी स्थिति नहीं है, एक जीवित पति के दौरान अनुबंधित दूसरी शादी शून्य है और दूसरी पत्नी को कानून कोई स्थिति नहीं देता है. पहली शादी के निर्वाह के दौरान दूसरी शादी को शून्य के रूप में नहीं माना जाता है, लेकिन सीधे और स्पष्ट रूप से शून्य के रूप में घोषित किया जाता है.

इस प्रकार, यह स्पष्ट है की केवल पहली पत्नी परिवार पेंशन की हकदार है क्योंकि वह मृत पति की असली विधवा है और दूसरी पत्नी को छोड़कर है. एक व्यक्ति की दो विधवाएं नहीं हो सकती हैं क्योंकि कानून दो पत्नियों की अवधारणा को नहीं पहचानता है.

इस प्रकार यह स्पष्ट रूप से स्थापित किया गया है कि दूसरी पत्नी को फैमिली पेंशन का दावा करने का कोई हक़ नहीं है.

(Lawzgrid – इस लिंक पर जाकर आप ऑनलाइन अधिवक्ता मुहैया कराने वाले एप्लीकेशन मोबाइल में इनस्टॉल कर सकते हैं, कोहराम न्यूज़ के पाठकों के लिए यह सुविधा है की बेहद कम दामों पर आप वकील हायर कर सकते हैं, ना आपको कचहरी जाने की ज़रूरत है ना किसी एजेंट से संपर्क करने की, घर घर बैठे ही अधिवक्ता मुहैया हो जायेगा.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles