Saturday, July 20, 2019
मध्यप्रदेश के छोटे से गांव राजनंदगांव में पले बढ़े बहादुर अली के पिता की मृत्यु उनके जीवन का टर्निग पॉइंट साबित हुई। छोटी आयु में ही सिर से पिता का साया उठ जाने के बाद परिवार के पालन पोषण की जिम्मेदारी उठाते हुए बहादुर अली ने पोल्ट्री का बिजनेस...
हाल ही में एक राष्ट्रीय अख़बार ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की. उसके आंकड़ों के अनुसार बिहार में पिछले कुछ वर्षों में हुए सांप्रदायिक तनावों में होने वाली एफ़आईआर की संख्या कई गुना बढ़ गई है. गया, मुज़फ़्फ़रपुर, बेतिया, सिवान, दरभंगा, पटना, सीतामढ़ी, नवादा, नालंदा और रोहतास ऐसे 10 ज़िले हैं जहां...
पिछले साल जब मैंने जामिया थाना ज्वाइन किया तो मेरे नवीं से बारहवीं क्लास तक मुस्लिम क़ुदरत इंटरमीडिएट कॉलेज, स्योहारा(बिजनौर) में साथ पढ़ने वाले साथी Nabeel Ahmad मूलनिवासी सहसपुर(बिजनौर) जो कि ज़ाकिर नगर के निवासी हैं से मुलाक़ात लाज़मी तौर पर हुई क्यूंकि ट्रांसफर के होते हुए ही यह ख़ुशी...
muslim girl from bihar became IPS
नई दिल्ली(विवेक शुक्ला) मुसलमानों ने साल 2014 की प्रतिष्ठित सिविल सर्विसेज परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन किया है। जिन करीब 1200 परीक्षार्थियों को सफलता मिली है, उनमें से 37 मुसलमान हैं। यानी वे आईएएस, आईएफएस, आईपीएस जैसी एलिट सरकारी सेवाओं में जाएंगे। इस परीक्षा के नतीजे बीते हफ्ते जारी हुए। सबसे...
सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकीलों की नियुक्ति में क्या पारदर्शिता की कमी है? सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह कहती हैं कि ये एक कड़वा सच है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल की है जिसमे उन्होंने वरिष्ठ वकीलों की नियुक्ति की प्रक्रिया को चुनौती दी है. उनके अनुसार...
50 years of Indo-Pak War: Remembering Nizam Hyderabad as a different kind of hero On 5 August 1965, around 30,000 Pakistani soldiers crossed the Line of Control, triggering what is called as the Indo-Pak War 1965. Now, it is officially planned to have a month-long celebrations in the honor of those...
was-gumnami-baba-actually-netaji-himself
फैजाबाद - यह आधुनिक भारत के सबसे बड़े रहस्यों में से एक है कि क्या गुमनामी बाबा (फैजाबाद के साधु) सचमुच नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे ? शुभ्रो नियोगी, सैकत रे समेत रिपोर्टरों की एक टीम ने कुछ लोगों से इस बारे में बात की। लोगों का मानना है कि...
blind nafees tarin wrote quran in 965 pages
ढाई साल लगे क़ुरान शरीफ को लिखने में  झारखंड की एक स्कूल टीचर ने अपनी ज़िंदगी के अंधेरे से लड़ते हुए नेत्रहीन लोगों के लिए ब्रेल में कुरान लिखा है. बोकारो के एक स्कूल में हिंदी पढ़ाने वाले वाली नफ़ीस तरीन ने ढाई साल की कड़ी मेहनत के बाद 965 पन्नों...
आतंकवादी मीडिया ने कैराना को इतना बदनाम कर दिया की सबकुछ जानते हुए भी एकबार खुद कैराना जाकर हालात का जायजा लेने से खुद को नही रोक पाया...वहां जाकर जो देखा सुना वो यहाँ साझा कर रहा हूं. कैराना मे घुसने से पहले ही भूरा रोड पर खेतों के बीच...
नई ‌दिल्ली, नई दिल्ली के 16 शिक्षण संस्थानों में यौन शोषण की 101 शिकायतें मिली हैं। दिल्ली महिला आयोग ने 23 शिक्षण संस्थानों से वर्ष 2013 से नवंबर तक कुल शिकायतों की जानकारी मांगी थी, जिसके अंतर्गत दिए गए जवाब में यह बात सामने आई। खास बात यह है कि दिल्ली...

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार